आपका सेल्फ इंट्यूशन आपको बताता है कि कुछ होने वाला है

Read in English
how to know your self intuition are trying to tell you something

हम सभी को कभी नी कभी किसी विषय में सलाह की ज़रूरत पड़ती ही हैं। हालांकि, हमारे अंदर एक शक्ति है जो हमें हर समय सही फैसले लेने के लिए प्रेरित करती है। यह सच है, हमारे बारे में हमसे बेहतर कोई नहीं जानता। हमारे अंदर की आवाज हमें कई बार सही रास्ते पर चलने में मदद करती है। कई बार हमारे मन की आवाज हमें कई बड़ी गलतियों को करने से बचाती है। आपके इंस्टिक्ट्स आपके आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करते हैं क्योंकि आप अपने मन की आवाज सुनते हैं। इतना ही नहीं, जब भी कुछ होने वाला होता है तो आपको उसके बारे में पहले ही आभास होने लगता है क्योंकि आप उसे महसूस कर लेते हैं। कुछ संकेत हैं जो बताते हैं कि आपका सेल्फ इंट्यूशन आपको कुछ बताने की कोशिश कर रहा है। [ये भी पढ़ें: फोन से थोड़ी दूरी बनाने से आपकी जिंदगी में क्या बदलाव आते हैं]

मानसिक शांति होना
जब आपका सेल्फ इंट्यूशन आपसे कुछ कहने की कोशिश कर रहा होता है तो आपके उसे महसूस करते हैं। जब आप अपने मन की आवाज को सुनकर उसका पालन करते हैं तो शांति महसूस होती हैं। इस दौरान आपको कई तरह के लक्षण दिखाई देते हैं। अगर आप इन संकेतों का पालन नहीं करते हैं तो आप नर्वस या असहज महसूस करते हैं। यदि आपको बहुत असहज महसूस हो रहा है तो इसका मतलब है कि आप अपने सेल्फ इंट्यूशन को फॉलो नहीं कर रहे हैं।

अनुचित निर्णय पर भी भरोसा होना
अगर आप अपने मन की सुनते हैं तो अनुचित निर्णय भी आपको खुश करते हैं। यह आपको आंतरिक शांति प्रदान करता है। अगर अपने सेल्फ इंट्यूशन को मानने के बाद आपने उचित निर्णय लिया है तो भी आपको भरोसा रहता है और मन की शांति मिलती है। आप अपने निर्णय के बारे में आश्वस्त महसूस करते हैं और खुश होते हैं। [ये भी पढ़ें: दिन में अपने समय को बर्बाद होने से कैसे बचाएं]

आप बाकी चीजों को नोटिस करते हैं
जब आप अपने सेल्फ इंट्यूशन की सुनते हैं तो आप अपने आसपास मौजूद अच्छे अवसरों को देख पाते हैं और उन्हें हासिल कर पाते हैं। इस तरीके से आपका सेल्फ इंट्यूशन आपको बताता है कि आप बाकी चीजों को भी अपनी जिंदगी में शामिल कर सकते हैं।

आप ‘मी टाइम’ के बा द रिलैक्स महसूस करते हैं
जब आप व्यस्त नहीं होते हैं और खुद से बात करते हैं तो आप रिलैक्स महसूस करते हैं। जब आपका दिमाग शांत होता है तो आपके इंट्यूशन्स आपसे बात करना शुरु करते हैं। ऐसे में आपको बहुत सी चीजों का आभास होता है।

आप अपने फैसलों को लेकर असहज महसूस कर रहे हैं
अगर आपने अपने इंट्यूशन्स के खिलाफ जाकर कोई फैसला किया है तो इससे आपको काफी असहज महसूस होता है। जब आप कोई फैसला करते हैं और उसके बाद आप असहज महसूस कर रहे हैं तो आपका सेल्फ इंट्यूशन आपको बताना चाह रहा है कि आप गलत कर रहे हैं। [ये भी पढ़ें: चीजें जो आपको अभी करना बंद कर देना चाहिए]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "