अपने विचारों पर काबू कैसे पाएं

Read in English
how to gain control over your thoughts for a better life

हमारे विचार हमारे जीवन में अहम भूमिका निभाते हैं। आप जो भी करते हैं या करने वाले हैं उसे आपके विचार प्रभावित करते हैं। विचार सकारात्मक भी हो सकते हैं और नकारात्मक भी। हम में से अधिकतर लोग अधिकतर समय पर इस बात से वाकिफ भी नहीं होते हैं कि हमारे दिमाग में कौन से विचार चल रहे हैं और हम क्या सोच रहे हैं। हालांकि बहुत बार आप जानते हैं कि आपके विचार आप पर क्या प्रभाव डालते हैं। आपके विचार आपको निराश, क्रोधित, अकेला, भयभीत, चिंतित, उदास आदि भावनाओं को महसूस कराते हैं। वहीं, दूसरी ओर कुछ विचार आपको खुश रखते हैं, हंसाते हैं, अच्छा महसूस कराते हैं, आपको आराम देते हैं, और आपका आत्मविश्वास बढ़ाते हैं। हमारा दिमाग दिनभर में 50-70 हजार विचारों को प्रोसेस करता है। इनमें से बहुत से विचारों पर हमारा काबू नहीं होता जबकि इन्हें आपका दिमाग प्रोसेस कर रहा होता है। हालांकि आप कुछ आसान तरीकों से अपने विचारों पर काबू पा सकते हैं। आइए जानते हैं इन तरीकों के बारे में। [ये भी पढ़ें: खुद की देखभाल करना कैसे आपको मानसिक रुप से स्वस्थ बनाता है]

विचारों पर गौर करें
अपने विचारों पर काबू पाने के लिए सबसे पहले आपको अपने विचारों पर गौर करने और इन्हें समझने की जरुरत है। विचार बुरे या अच्छे नहीं होते, बल्कि आप यह आप पर निर्भर करता है कि आप इन्हें कैसे लेते हैं। इसलिए अपने विचारों को लेकर राय ना बनाएं, पहले इन पर गौर करें।

विचारों को पहचानें
अब आप इस बात पर ध्यान दें कि आपके दिमाग में आने वाले कौन से विचार नकारात्मक है और कौन से सकारात्मक। जब आप विचारों को पहचान लेंगे तो आप इन पर आसानी से काबू पा सकेंगे। ध्यान दें कि कौन से विचार आपको बुरा महसूस कराते हैं। [ये भी पढ़ें: अगर लोग आपको कम आंकते हैं तो क्या करें]

नकारात्मक विचारों को रोकें
जब आप पहचान जाएंगे कि कौन से विचार आपको परेशान कर रहे हैं तो आपको इन्हें रोकने में मदद मिलेगी। खुद को इन विचारों की जगह कुछ और सोचने के लिए तैयार करें। इसके लिए आप किसी से बात भी कर सकते हैं कि आपके दिमाग में इस वक्त क्या विचार चल रहे हैं। इससे आपको इन्हें रोकने में मदद मिलेगी।

दूसरे विचारों से रिप्लेस कर दें
जो विचार आपको परेशान कर रहे हैं चाहे फिर वो किसी से भी संबंधित हो, उन्हें अपने दिमाग से निकालना बेहतर होता है। इसके लिए आप उनकी जगह किन्हीं और विचारों को दें। आप क्या सोचना चाहते हैं, इसका फैसला आप करेंगे इसलिए बुरे विचारों को अच्छे विचारों से रिप्लेस कर दें।

कार्यान्वित करें
अच्छे विचारों को अपने दिमाग में जगह देने के बाद आप उन विचारों पर काम करना शुरु करें जिससे ये विचार आपकी जिंदगी में वास्तविक रुप लेने लगते हैं। यह सोचने में समय बर्बाद ना करें कि आप कौन सी चीजें नहीं पा सकते हैं, बल्कि आपको क्या चाहिए वह सोचें और उसे अपनी जिंदगी में लाने के लिए कार्य करें। [ये भी पढ़ें: शांत रहने वाले लोगों में क्या विशेषताएं होती हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "