माफ कर देना आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद है

Read in English
how forgiveness is beneficial for your mental health

Pic Credit: www.dominicanajournal.org

ऐसा कहा गया है कि माफी देना हर किसी व्यक्ति के बस में नहीं होता। जो लोग मजबूत होते हैं केवल वो ही दूसरों को उनकी गलती के लिए माफ कर पाते हैं। जिस व्यक्ति ने आपके साथ कुछ गलत किया हो, उसे माफ करना सबसे मुश्किल काम है। हालांकि अगर आप इस कठिन काम को करते हैं तो इससे आप खुद पर ही एहसान करते हैं। किसी को उनकी गलती के लिए माफ कर देने से ना केवल आप दोनों के बीच की तकरार कम होती है बल्कि आपका मानसिक स्वास्थ्य भी बेहतर होता है। शोध बताते हैं कि माफी देने से आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य में सुधार होता है। आइए जानते हैं कि किसी को माफ कर देना आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद है। [ये भी पढ़ें: भविष्य के बारे में चिंता करना कैसे बंद करें]

तनाव कम होता है
जिस व्यक्ति से आप नाराज है उसे माफ कर देने से आपका तनाव कम होता है। माफी दे देने से हम बार-बार उन विचारों को प्रोसेस नहीं करते जो हमें परेशान कर रहे होते हैं। ये विचार आपको मानसिक तनाव की ओर ले जाते हैं। माफ कर देने के बाद आप हीलिंग की ओर बढ़ते हैं।

चिंता को कम करता है
चिंता होने के कई कारण हो सकते हैं। अगर आपको लग रहा है कि आपने कुछ गलत किया है तो इस कारण भी आपको चिंता हो सकती है। अगर आप किसी गलती के लिए खुद को या किसी अन्य व्यक्ति को माफ कर देते हैं तो आपको मानसिक शांति मिलती है और आपकी चिंता भी कम हो जाती है। [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आपकी जिंदगी पर नकारात्मक लोग हावी हो रहे हैं]

मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य बेहतर होता है
माफ कर देने से आपका मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य बेहतर होता है क्योंकि माफ कर देने से हम अधिक सामंजस्यपूर्ण बनते हैं। इससे आप जिंदगी के नए पहलुओं के बारे में सोचते हैं और पुराने विचारों का बोझ आपके दिमाग से कम हो जाता है।

गुस्से को काबू करने में मदद
पुरानी बातों को भूलकर जब आप किसी को माफी देते हैं तो आपके ऊपर अतीत का बोझ कम होता है और आप खुद पर अधिक काबू पाते हैं। इससे आपको अपने गुस्से को काबू करने में मदद मिलती है।

रिश्ते बेहतर होते हैं
जब आप माफ करने को अपने आध्यात्मिक अभ्यास का नियमित हिस्सा बना लेते हैं तो सभी के साथ आपके रिश्ते बेहतर होने लगते हैं जैसे प्रेमी, सहकर्मी, पड़ोसियों, परिवार आदि। इससे आपके मन में किसी तरह का बोझ नहीं रहता है और आप खुश रहते हैं। [ये भी पढ़ें: मोबाइल फोन की हानिकारक किरणों से दिमाग को कैसे बचाएं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "