Emotions affect health: भावनाएं आपके स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करती हैं

How Your Emotions Affect Your Body

आप किस वक्त क्या महसूस करते हैं इसका असर आपके शरीर के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है।

Emotions affect health: हमारी भावनाएं हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा होती हैं। यह केवल एक शब्द नहीं है बल्कि हम क्या महसूस करते हैं, इसका सीधा असर हमारे जिंदगी पर भी पड़ता है। इतना ही नहीं, आपका शरीर भी आपकाी भावनाओं के कारण प्रभावित होता है। आप किस वक्त क्या महसूस करते हैं इसका असर आपके शरीर के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है। आपकी भावनाएं और आपके स्वास्थ्य के बीच एक गहरा कनेक्शन होता है। डर, चिंता और तनाव जैसी भावनाएं ना केवल आपके मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी होती हैं बल्कि शारीरिक स्वास्थ्य से भी इनका संबंध होता है। आइए जानते हैं कि भावनाएं आपके शरीर के स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करती हैं। [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आप अपनी भावनाओं से जुड़े हुए हैं]

Emotions affect health: भावनाएं कैसे आपके स्वास्थ्य पर असर डालती हैं

  • प्यार
  • गुस्सा
  • चिंता
  • दुख
  • तनाव

प्यार

How Emotions Affect Health
प्यार में होने पर आपके शरीर में ऑक्सीटॉसिन रिलीज होता है जो कि एक लव हार्मोन है।

जब आप प्यार में होते हैं तो आपके दिल की धड़कन तेज हो जाती है। ऐसा एड्रेनालाईन और नोरेपिनेफ्रिन हार्मोन के उत्तेजित होने के कारण होता है। साथ ही प्यार में होने पर आपके शरीर में ऑक्सीटॉसिन रिलीज होता है जो कि एक लव हार्मोन है। यह हार्मोन आपको खुशी महसूस कराता है और दर्द को कम करता है। साथ ही यह आपके दिल के स्वास्थ्य में भी सुधार करता है। [ये भी पढ़ें: जब आप प्यार में होते हैं तो दिमाग कैसे प्रतिक्रिया देता है]

गुस्सा
गुस्सा एक तीव्र भावना है जो निराशा, चोट, या अपमान की प्रतिक्रिया के दौरान महसूस होती है। जब आप गुस्सा होते हैं तो आपके शरीर में कोर्टिसोल हार्मोल का अत्यधिक स्राव होता है। इससे आपके दिमाग का एमिगडला नामक हिस्सा अत्यधिक प्रतिक्रिया करता है। गुस्से के कारण आपके शरीर को सिरदर्द, अनिद्रा, पाचन समस्याएं, त्वचा समस्याएं आदि परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं।

चिंता
लंबे समय से चिंता होने के कारण आपको कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। यह स्पलीन को प्रभावित करती है और आपके पेट को कमजोर कर सकती है। चिंता के कारण न्यूरोट्रांसमीटर के फंक्शन में भी बदलाव होता है। इसके अलावा अधिक चिंता करने से सीने में दर्द, उच्च रक्तचाप, प्रतिरक्षा का कमजोर होना और पेट से जुड़ी समस्याएं होती हैं। [ये भी पढ़ें: 60 सेकेंड में चिंता को दूर करने के आसान उपाय]

दुख

How Emotions Harm Your Body and Overall Health
दुख की भावना आपके स्वास्थ्य को बुरी तरह प्रभावित करती है।

सभी भावनाओं में से दुख ऐसी भावना है जो आपको लंबे समय तक प्रभावित करती है। दुख की भावना आपके फेफड़ों को हानि पहुंचाती है साथ ही थकान, सांस लेने में परेशानी आदि समस्याओं का कारण बनती है।

तनाव
अगर तनाव कम होता है तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक नहीं होता लेकिन जब तनाव अत्यधिक हो, तो यह उच्च रक्तचाप, अस्थमा, अल्सर और बोवेल सिंड्रोम का कारण बन सकता है। इसके अलावा तनाव आपके ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा देता है।

[जरुर पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आप अपनी भावनाओं से दूर हो रहे हैं]

ये कुछ भावनाएं हैं जो आपके शरीर को कई तरह से प्रभावित करती हैं। इसके अलावा डर, अकेलापन, अवसाद, अपमान की भावना भी आपके स्वास्थ्य को नकारात्मक रुप से प्रभावित करती हैं। आप इस आर्टिकल को इंग्लिश में भी पढ़ सकते हैं।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "