Effects Of Alcohol: एल्कोहल आपके दिमाग को कैसे प्रभावित करता है

What Alcohol Really Does to Your Brain

आपका दिमाग एल्कोहल के कारण बुरी तरह प्रभावित होता है।

Effects Of Alcohol: एल्कोहल का सेवन शुरुआत में आपको उत्तेजित तो करता है लेकिन इसका हर रोज और असीमित मात्रा में सेवन करना आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। यह ना केवल आपके लिवर के स्वास्थ्य पर भारी पड़ता है बल्कि आपका दिमाग भी इसके कारण प्रभावित होता है। हमारा दिमाग कुछ न्यूरोट्रांसमिशन के संतुलन पर कार्य करता है। एल्कोहल के सेवन से न्यूरोट्रांसमिशन एक्टिविटी प्रभावित होती है जिससे आपके शरीर और दिमाग के बीच का संतुलन बिगड़ जाता है। इसके बाद वो सभी लक्षण दिखते हैं जो शराब के सवन के बाद एक व्यक्ति के व्यहार में होते हैं। अगर आप लंबे समय तक एल्कोहल का लगातार सेवन करते हैं तो इससे आपकी मेमोरी कम हो सकती है और निर्णय लेने की क्षमता भी प्रभावित होती है। आइए जानते हैं एल्कोहल आपके दिमाग को कैसे प्रभावित करता है। [ये भी पढ़ें: एल्कोहल का कितना सेवन आपके लिए ज्यादा हो सकता है]

Effects Of Alcohol: एल्कोहल के सेवन का दिमाग पर प्रभाव

  • अवसाद की भावना
  • इंद्रियों का सुन्न होना
  • फैसला लेने की क्षमता का कमजोर होना
  • दिमाग के विकास में कमी
  • मेमोरी लॉस

अवसाद की भावना
जब आप एल्कोहल का सेवन करते हैं तो शुरुआत में यह आपके दिमाग को उत्तेजित करता है लेकिन थोड़े समय के अंदर ही यह अपना प्रभाव बदल लेता है और आपको अवसाद की भावना महसूस होने लगती है। इसके कारण मूड स्विंग्स, अत्यधिक भावनात्मक होना, ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत, थकान आदि परेशानियां होने लगती हैं। [ये भी पढ़ें: डिप्रेशन से ग्रसित लोगों में दिखतें हैं भावनात्मक लक्षण]

इंद्रियों का सुन्न होना

Alcohol Effects on the Brain
एल्कोहल के अधिक सेवन के कारण आपको बोलने और समझने में भी परेशानी हो सकती है।

एल्कोहल का सेवन करने से आपका ब्रेन फंक्शन और सेंट्रल नर्वस सिस्टम फंक्शन प्रभावित होता है। सेंट्रल नर्वस सिस्टम आपकी इंद्रियों के कार्य करने के लिए जिम्मेदार होता है। इसलिए जब सेंट्रल नर्वस सिस्टम सही से काम नहीं करता तो आपकी इंद्रियां सुन्न हो जाती है और आपको बोलने और समझने में भी परेशानी होती है।

फैसला लेने की क्षमता का कमजोर होना
एल्कोहल के सेवन से आपकी निर्णय लेने की क्षमता भी कमजोर होती है। यही कारण है कि एल्कोहल के सेवन से आपकी जिंदगी और आपके रिश्ते भी प्रभावित होते है। एल्कोहल के सेवन के बाद आप गलत फैसले लेते हैं जिसके लिए आपको पछताना पड़ता है। [ये भी पढ़ें: सही समय पर उचित निर्णय कैसे लें]

दिमाग के विकास में कमी
वयस्क लोगों से ज्यादा एल्कोहल का सेवन युवा और किशोरों को अधिक प्रभावित करता है। अगर किशोर एल्कोहल का सेवन करते हैं तो उनके दिमाग का विकास रुक सकता है। एल्कोहल के सेवन से किशोरों के दिमाग के विकास में कमी, समस्या सुलझाने की क्षमता कम होना, मेमोरी, निर्णय लेने की क्षमता कम होना, तर्क क्षमता बाधित होना आदि समस्याएं हो सकती हैं। [ये भी पढ़ें: दिमाग को स्वस्थ और सक्रिय रखने के उपाय]

मेमोरी लॉस

ALCOHOL'S DAMAGING EFFECTS ON THE BRAIN
एल्कोहल का असीमित सेवन पार्शियल मेमोरी लॉस की वजह बनता है।

एल्कोहल का असीमित और नियमित रुप से सेवन करने से आपकी याददाश्त भी प्रभावित होती है। हालांकि इससे थोड़ी देर के लिए ही मेमोरी लॉस होता है। इसे पार्शियल मेमोरी लॉस(partial memory Loss) कहते हैं।

[जरुर पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आपका दिमाग समय से पहले बूढ़ा हो रहा है]

ये कुछ हानिकारक प्रभाव हैं जो एल्कोहल का सेवन करने से आपके दिमाग पर होते हैं। इनसे बचने के लिए एल्कोहल का सेवन कम करें। इस आर्टिकल को इंग्लिश में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "