ईर्ष्या और जलन में क्या फर्क होता है और इससे कैसे बाहर आएं

Read in English
difference between envy & jealousy and how to overcome from it

ईर्ष्या और जलन दो नकारात्मक भावनाएं हैं जो ज्यादातर व्यक्तियों को होती हैं। यह दोनों भावनाएं व्यक्ति को सकारात्मक से नकारात्मक बना देती हैं। कई लोगों को लगता है कि यह दोनों भावनाएं एक ही होती हैं लेकिन इनमें कई अंतर होते हैं, जिसे दूर करना जरुरी होता है। अगर ईर्ष्या और जलन दोनों भावनाएं को दूर ना किया जाए तो आपके अंदर नकारात्मकता बढ़ती जाती है। तो आइए आपको बताते हैं कि ईर्ष्या और जलन में क्या फर्क होता है और इन्हें कैसे दूर किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: तरीके जो एकाग्रता में सुधार लाने में मदद करते हैं]

ईर्ष्या और जलन में फर्क: लोगों को लगता है कि ईर्ष्या और जलन दोनों एक ही चीज है लेकिन इसमें अंतर होता है। किसी व्यक्ति के पास कुछ होने के बाद उस चीज को लेने की इच्छा ईर्ष्या कहलाती है। उदाहरण के लिए जैसे आपके किसी दोस्त को अपनी मनपंसद नौकरी मिल गई पर आपको अपनी पसंद की नौकरी नहीं मिली। तो दूसरी तरफ जलन किसी चीज को खोने का डर होना। आपके सहकर्मी को आपसे बेहतर काम मिलने पर आपको जलन हो सकती है और आपको अपनी नौकरी का खतरा होने लगते हैं।

ईर्ष्या और जलन से कैसे बाहर आएं:

खुद को जज करना बंद करें: जब आपको किसी चीज से ईर्ष्या और जलन होती है तो आपको खुद को जज करना बंद कर दें कि इससे आप अपनी परिस्थिति की तुलना किसी और व्यक्ति की तुलना में न करें। किसी से ईर्ष्या और जलन करने से बहेतर है कि ऐआप उस चीज को पाने के लिए कठिन परिश्रम करना शुरु कर दें। इससे आपके दिमाग में ज्यादा ख्याल भी नहीं आएंगे और आपको सकारात्मक विचार आने लगेंगे। [ये भी पढ़ें: एस्पर्जर सिंड्रोम के कारण और लक्षण]

लोगों की सराहना करें: ईर्ष्या और जलन से बाहर आने के लिए लोगों की सराहना करना सबसे जरुरी होता है। ऐसा करने से आपको ईर्ष्या और जलन दूर करने में मदद मिलेगी। दूसरों की सफलता से अपने खुश रहने के लिए रास्ता ढूंढे। यह आपको खुश रहने में मदद करेगी और ईर्ष्या और जलन दूर भी होती जाएगी।

ईर्ष्या और जलन को लक्ष्य पाने में इस्तेमाल करें: जब आपको एक बार अपनी ईर्ष्या और जलन का कारण पता चल जाए तो आप उसे सकारात्मकता में बदल सकते हैं। जैसे अपने लक्ष्य को पाने में। ईर्ष्या और जलन को लक्ष्य प्राप्त करने में इस्तेमाल करने से नकारात्मकता दूर होती है और आपके जीवन में कई बेहतर चीजे होने लगती हैं। [ये भी पढ़ें: कहीं दूसरों की खुशी के लिए खुद को दुखी करने वाले व्यक्ति तो नहीं है आप]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "