बचपन में हुई कोई घटना वयस्क होने पर भी आपको कर सकती है प्रभावित

childhood incidents may affect you in adult also

बचपन हर किसी के लिए बहुत अच्छा होता है और हर कोई अपने बचपन की यादों से प्यार करता है। आप बचपन में जो भी अनुभव करते हैं या समझते हैं वो सारी चीजें बड़े होने पर आपके मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। हम में से अधिकांश बचपन को लापरवाह और खुशहाल समय के रूप में याद करते हैं, लेकिन यह हर किसी के लिए एक समान नहीं होता है। बहुत से लोगों के मन में बचपन की कोई घटना बैठ जाती है जैसे- किसी अपने का दूर होना, बचपन में हुआ शोषण, प्यार की कमी या परिवार के किसी गंभीर मुद्दें। ये सारी चीजें जो बचपन में होती है वो बड़े होने पर भी मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। आइए जानते हैं बचपन में हुई कोई घटना वयस्क होने पर भी आपको कैसे प्रभावित कर सकती है। [ये भी पढ़ें: टालमटोल करने की आदत को कैसे छुड़ाए]

दूसरों के प्रति भरोसा कम हो जाना:
जिस किसी के साथ भी बचपन में कोई घटना होती है और वो उनके मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं, वैसे लोगों को व्यस्क होने पर दूसरों पर भरोसा करना बहुत मुश्किल हो जाता है। उनके दिमाग पर उन घटनाओं का इतना प्रभाव पड़ता है कि वो उसके दर्द से बाहर नहीं निकल पाते हैं।

पीड़ित की मानसिकता:
बचपन के आघात का शिकार व्यक्ति को आत्मविश्वास और कमजोर महसूस कराने लगता है। यह पीड़ित के सामाजिक कौशल को प्रभावित करता है क्योंकि वह अपने आघात से बाहर नहीं आ पाता है। किसी भी बचपन के आघात से पीड़ित व्यक्ति को सोच और विचारों से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है। [ये भी पढ़ें: काम जिन्हें रोज करने से आप बन सकते हैं स्मार्ट]

आत्मविश्वास की कमी:
अधिकांश बचपन में हुए दर्दनाक घटनाएं पीड़ित के मन में डर और असुरक्षा की भावना जगा देता है। वे अपने स्थान पर कभी भी सुरक्षित और आरामदायक महसूस नहीं करते हैं। ऐसे में इन वजहों के कारण उनका आत्म-विश्वास कम हो जाता हैं जो उनके जीवन को प्रभावित करता है।

अपनी भावनाओं को व्यक्त ना कर पाना:
बचपन की घटनाओं के कारण उसका प्रभाव व्यस्क होने पर दिमाग पर इतना गहरा हो जाता है कि वो उसे भुला नहीं पाते हैं और इस वजह से वो अपनी भावनाओं को अपने अंदर ही दबाकर रखते हैं। उनके साथ जो बिती होती है वो उन्हें दूसरों से शेयर नहीं कर पाते हैं और अपनी भावनाओं को नियंत्रित रखते हैं। [ये भी पढ़ें: परेशानियों के होते हुए भी ख़ुद को प्रोत्साहित कैसे करें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "