कौन सी बातें व्यक्ति को मानसिक रूप से मजबूत बनाती हैं

Read in English
characteristics of mentally strong people

Photo Credit: cdn.yourstory.com

शारीरिक रूप से मजबूत रहने के लिए व्यायाम करना एक अच्छा उपाय है, लेकिन कम लोगों को पता है की मानसिक रूप से मजबूत रहने के लिए क्या किया जाना चाहिए। भावनाएं, विचार और व्यवहार उन तीन चीजों में से एक है जो मानसिक मजबूती को दर्शाता है। मानसिक रूप से मजबूत रहने के लिए भावनाओं, विचारों और व्यवहार पर नियंत्रण होना बेहद जरुरी है। जिन लोगों का इन तीन चीजों पर नियंत्रण होता है वो मानसिक रूप से मजबूत होते हैं। मानसिक रूप से मजबूत लोगों में निम्नलिखित गुण पाए जाते हैं। [ये भी पढ़ें: जानें सपनों की अजीबो गरीब दुनिया के बारे में]

1.सफलता की अपनी परिभाषा तय करते हैं: मानसिक रूप से मजबूत लोग किसी से खुद की तुलना नहीं करते हैं या फिर किसी को हराने के लिए जीतने की कोशिश नहीं करते हैं। वो सफलता की अपनी परिभाषा बनाते हैं और वो समझते हैं की सफलता का सबका अपना तरीका अलग होता है।

2.वो रोजाना खुद के लिए लक्ष्य निर्धारित करते हैं: मानसिक रूप से मजबूत लोग रोजाना खुद के लिए लक्ष्य तय करते हैं। वो हर दिन अपने आप को बेहतर बनाने की प्रक्रिया में लगे रहते हैं। वो जो भी लक्ष्य तय करते हैं उसे पूरी तत्परता से पूरा करने में लग जाते हैं। [ये भी पढ़ें: पोटैशियम की कमी से हो सकती हैं मानसिक समस्याएं]

3.अपनी भावनाओं को समझते हैं: मानसिक रूप से मजबूत लोग अपनी भावनाओं को पारदर्शी रखने में यकीन रखते हैं। अगर वो कभी दुखी या शर्मिन्दा भी होते हैं तो अपनी भावनाओं को छिपाते नहीं हैं। ऐसे लोगों को अपनी भावनाओं के बारे में पता होता है और उन्हें पता है की उनकी भावनाएं उनके सोच और व्यवहार को कितना प्रभावित करती है।

4. नकारात्मकता को सकारात्मकता में तब्दील करते हैं: सभी व्यक्ति के मन में नकारात्मक विचार आते हैं चाहे वो मानसिक रूप से कितना हीं मजबूत क्यों न हो। हालंकि मानसिक रूप से मजबूत लोग अपने दिमाग में आ रहे नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचार में तब्दील करने की कोशिश करते हैं। वो इन विचारों से भागते या इन्हें नजरंदाज नहीं करते हैं।

5.अपनी मानसिक ऊर्जा को सही से इस्तेमाल करते हैं: मानसिक रूप से मजबूत लोग अपनी मानसिक ऊर्जा को सोच समझकर खर्च करते हैं। उन्हें पता होता है कि समय और ऊर्जा हमेशा के लिए नहीं है इसलिए वो इन संसाधनों का सही जगह, सही वक्त पर सही तरीके से करते हैं। वो अपने दिमाग को हमेशा खुद को बेहतर बनाने के लिए इस्तेमाल करते हैं।

6.उन्हें अपनी क्षमता का पता होता है: मानसिक रूप से मजबूत लोगों को अपनी क्षमता के बारे में पता होता है। वो अपनी प्रतिभा और अपने कौशल(स्किल्स) को लोगों को दिखाने के लिए इस्तेमाल नहीं करते हैं बल्कि वो अपने कौशल को रोजाना निखारने के प्रयास में लगे रहते हैं।

7.अपने जीवन की पूरी जिम्मेदारी लेते हैं: मानसिक रूप से मजबूत लोग बहाने नहीं बनाते हैं। उन्हें ये पता होता है कि उनके किस काम का क्या प्रभाव होगा, उन्हें पता होता है कि उनका जीवन उन्हीं के द्वारा लिए गए फैसले से प्रभावित होता है। ऐसे लोग कभी अपनी विफलताओं का दोष दूसरों को नहीं देते हैं।

8.अपने उसूलों पर टिके रहते हैं: मानसिक रूप से मजबूत लोग अपने विचार अपने उसूल तय करते हैं और वो उन्हीं पर टिके रहते हैं। वो जल्दी-जल्दी अपने विचार और नजरिया नहीं बदलते हैं। [ये भी पढ़ें: नींद में चलने वाली बीमारी(स्लीपवॉकिंग डिसआर्डर) के कारण, लक्षण और उपचार]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "