विज्ञान ने बताया, मेडिटेशन करना क्यों है जरुरी

scientific reasons to practice meditation daily

‘मेडिटेशन’- यह शब्द आपने कितना बार सुना होगा और आपके लिए यह जाना पहचाना है। अगर आपने इसका कभी अभ्यास नहीं किया है तो आपके लिए यह जानना काफी मुश्किल है कि आपकी जीवन के लिए इसके क्या फायदे हो सकते हैं। अगर आप नियमित रुप से मेडिटेशन करते हैं तब भी आपके लिए इस सवाल का जवाब देना थोड़ा कठिन होगा कि हर रोज की जिदंगी में मेडिटेशन कैसे बदलाव ला सकता है। हालांकि विज्ञान के जरिए इस बात का पता चलता है कि मेडिटेशन करने से आपके शरीर को क्या लाभ मिलते हैं, यह कैसे आपको दिमाग को तेज करता है साथ ही आपकी जिंदगी और संबंधों में सुधार लाता है। आइए जानते हैं वो वैज्ञानिक कारण जो बताते हैं कि आपको मेडिटेशन करना क्यों जरुरी है। [ये भी पढ़ें: कॉफी पीने के बाद मेडिटेशन करने से होने वाले फायदे]

डिप्रेशन और चिंता को दूर करने का अद्भुत तरीका: हम जानते हैं कि मेडिटेशन हमारे दिमाग के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद अभ्यास है। विज्ञान ने यह साबित किया है कि मेडिटेशन डिप्रेशन और चिंता जैसी मानसिक अवस्थाओं को कम करने में मदद करता है। डिप्रेशन और चिंता जैसे मानसिक विकारों से ग्रस्त रोगियों को डॉक्टर्स मेडिटेशन का अभ्यास करने की सलाह देते हैं।

ब्रेन में ग्रे मैटर का स्तर बढ़ता है: अध्ययनों में पाया गया है कि मेडिटेशन के नियमित अभ्यास से ब्रेन में ग्रे मैटर का स्तर बढ़ता है। ग्रे मैटर में वृद्धि होने से व्यक्ति में सकारात्मक भावनाओं का विकास होता है। साथ ही उनमें भावनात्मक स्थिरता बनी रहती है। मूल रूप आपके मस्तिष्क में ग्रे मैटर जितना अधिक होता है, आपका दिमाग उतना बेहतर कार्य करता है। [ये भी पढ़ें: मेडिटेशन करने से पहले इसका अर्थ जानना है जरुरी]

फिजिकल पेन को कम करने के लिए मेडिटेशन: हालांकि शोधकर्ताओं को अभी तक ये स्पष्ट नहीं हुआ है कि यह कैसे काम करता है लेकिन ध्यानपूर्वक किया गया मेडिटेशन क्रोनिक पेन को कम करने और जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाने में मदद मिलती है। जो लोग लंबे समय से फिजिकल पेन से ग्रस्त है उन्हें इस समस्या से ड्रग्स और सर्जरी से निजात मिल सकता है अगर वो मेडिटेशन का नियमित और सही अभ्यास करते है।

मेडिटेशन आपको जवां रखने में मदद करता है: शोध में पता चला है कि योग-आधारित मेडिटेशन करने से कॉगनिटिव फंकशन सही तरीके से काम करते हैं और टेलोमोरेस एक्टिविटी बढ़ सकती है। ऐसा होने से तनाव के कारण हमारी कोशिकाओं को एजिंग से बचाया सकता है जिससे आप लंबे समय तक जवां रहते हैं।

इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है: अगर आप थोड़े समय के लिए भी मेडिटेशन करते हैं तो इसके अभ्यास से आपके इम्यून सिस्टम में महत्वपूर्ण बदलाव हो सकते हैं। अगर आपका इम्यून सिस्टम सही तरीके से काम करता है तो आप कई तरह के हानिकारक वायरस से खुद की रक्षा कर पाते हैं और कोल्ड एंड फ्लू जैसी वायरल बीमारियों से बचा पाते हैं। [ये भी पढ़ें: वो कौन सी वजह हैं जो रोकती हैं मेडिटेशन करने से]

Reference:

//www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/22407663
//www.sciencedirect.com/science/article/pii/S1053811909000044
//jamanetwork.com/journals/jamainternalmedicine/fullarticle/1809754

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "