अगर आप अधिक चिंतित रहते हैं तो जरुर जानें मेडिटेशन से जुड़े कुछ राज

meditation secrets every anxious person should know

photo credit: yogajournal.com

जीवन में सुख-दुख, खुशी सभी भावनाएं महसूस करना जरुरी होता है। आपको अपने दोस्तो, घर वालों, रिलेशनशिप, काम सभी से यह भावनाएं महसूस होती हैं। लेकिन इन सब चीजों के बारे में ज्यादा सोचने की वजह से व्यक्ति चिंता करने लगता है। चिंतित होने की वजह से नकारात्मक विचारों को दूर नहीं कर पाता है और हर रोज लोगों से अपने व्यवहार को लेकर सवाल पूछते रहते हैं। चिंता को दूर करने के लिए मेडिटेशन बहुत फायदेमंद होता है। इसे रोजाना करने से व्यक्ति के एकाग्र होने में सुधार हो सकता है। साथ ही आपको शांत करता है। लेकिन मेडिटेशन से जुड़े हुए कुछ राज भी होते हैं। जिनके बारे में पता होना जरुरी होता है। तो आइए आपको मेडिटेशन से जुड़े राज के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: संकेत जो आपको बताते हैं कि आप सही तरीके से मेडिटेशन कर रहें हैं]

समय की जरुरत होती है:
यह सुनकर थोड़ा अजीब लगता है लेकिन यह सच है कि अगर आप मेडिटेशन करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए अलग से समय की जरुरत होती है। आप थोड़ी देर मेडिटेशन करके चिंता को दूर नहीं कर सकते हैं। इसलिए समय का बहाना ना बनाते हुए रोजाना मेडिटेशन करें। मेडिटेशन करना अपने दिन के कामों से जोड़ लें, ताकि आप इसे करना ना भूलें। सुबह उठने के बाद सबसे पहले मेडिटेशन करें। इससे चिंता दूर करने में मदद मिलती है।

चिंता पूरी तरह दूर नहीं होती है:
मेडिटेशन की मदद से पूरी तरह से चिंता दूर होती है। जब आप मेडिटेशन करना शुरु करते हैं तो चिंता कम होने लगती हैं। लेकिन यह पूरी तरह से दूर नहीं हो पाती है। [ये भी पढ़ें: मेडिटेशन करने से पहले खुद से पूछें ये सवाल]

चिंता के लिए मेडिटेशन ही एक उपाय नहीं है:
चिंता को दूर करने के लिए मेडिटेशन एक बहुत अच्छा उपाय है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इसके अलावा किसी चीज से चिंता को दूर नहीं किया जा सकता है। वॉक करके, प्रकृति में समय बिताकर और अपने प्रियजनों से बात करके भी चिंता को दूर किया जा सकता है। मेडिटेशन से आपको अपने अनुभवों को महसूस करने का समय मिलता है। मेडिटेशन करके चिंता को पूरी तरह दूर नहीं किया जा सकता है मगर इससे शरीर को शांत जरुर किया जा सकता है।

शांत बैठना आसान है:
मेडिटेशन की शुरुआत थोड़े समय से करनी चाहिए। ये नहीं की आप पहले दिन ही 10-20 मिनट तक मेडिटेशन करने बैठ जाएं। किसी भी नई आदत को डालने के लिए आपको समय लगता है। इसे करने के लिए आप दिन में 1 मिनट तक बैठें। ऐसा करते करते समय को बढ़ाएं। उसके बाद आपको इसे करने में आसानी होने लगेगी। [ये भी पढ़ें: पुरुषों के लिए मेडिटेशन करना क्यों फायदेमंद होता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "