स्कूली छात्रों के लिए कैसे है मेडिटेशन प्रभावी

how meditation is beneficial for school going child

मेडिटेशन करने से बहुत सारे शारीरिक और मानसिक फायदे होते हैं। इसके नियमित अभ्यास से दिमाग स्वस्थ रहता है और याददाश्त भी मजबूत होती है। मेडिटेशन करने से दर्द, सांसों की समस्या और दिल से जुड़ी परेशानी का भी सामाधान हो सकता है। मेडिटेशन हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। मेडिटेशन छात्रों के लिए भी बहुत तरह से लाभकारी हो सकती है। यह एकाग्रता को बनाए रखने मदद करता है, जिससे छात्रों की स्मरण शक्ति बढ़ती है जो परीक्षा के समय में बेहद जरूरी होता है। तो आइए छात्रों को मेडिटेशन से होने वाले फायदों के बारे में जानते हैं। [ये भी पढ़ें : मेडिटेशन कैसे आपकी चेतना को करता है प्रभावित]

1.एकाग्रता में बढ़ोतरी:
रिसर्च के अनुसार मेडिटेशन करने से ध्यान केंद्रित करने कि क्षमता बढ़ती है। मेडिटेशन छात्रों की एकाग्रता को भी मजबूत करता है। मेडिटेशन करने से छात्रों को कई तरह से लाभ मिलता है जैसे- वह कक्षा में पूरी तरह से ध्यान दे सकते हैं या फिर पढ़ाई में भी फोकस कर सकते हैं।

2.याददाश्त मजबूत होना: मेडिटेशन करने से दिमाग के हिप्पोकैम्पस हिस्से के ग्रे-मैटर में वृद्धि होती है जो अच्छी याददाश्त के लिए जिम्मेदार होता है। इसकी वजह से छात्रों के सोचने कि शक्ति बढ़ जाती है जो उनके अच्छे परिणाम के लिए बेहद आवश्यक है। एक अच्छी याददाश्त का अर्थ है सिर्फ पढ़ी हुई चीजें याद रखना नहीं बल्कि एक बार में कई अलग-अलग विचारों का मन में आना और साथ-साथ उसे याद रखना भी होता है। [ये भी पढ़ें: जानें क्या है रेकी मेडिटेशन और इससे होने वाले फायदे]

3.चिंता और तनाव कम करना:
how meditation is beneficial for school going childनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ के सर्वे के अनुसार तनाव के अन्य लक्षण भी होते हैं जैसे- पेट से जुड़ी समस्या, सिरदर्द, अनिद्रा, डिप्रेशन और क्रोध। छात्रों में कई तरह की चिंता और तनाव होता है। मेडिटेशन करने से छात्र अपनी भावनाओं पर कंट्रोल कर सकते हैं और तनाव और चिंता की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

4.थकान कम होना: मेडिटेशन करने से थकान दूर होती है जिसकी वजह से ध्यान लगाना आसान हो जाता है। कॉलेज जीवन का एक दिलचस्प समय होता है जहां छात्र अनियमित रूप से सोते हैं। इसके अलावा गलत खानपान से भी शरीर को पर्याप्त उर्जा नहीं मिल पाती जिससे थकान होने लगती है। ऐसे में छात्रों के लिए मेडिटेशन बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है।

5.इम्यूनिटी बूस्टर: मेडिटेशन करने से आपका इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है और इसकी वजह से आप अपने गतिविधियों के प्रति अधिक जागरूक रहते हैं। नौकरी के चलते, अपने रिश्तों को संभालने और सामाजिक गतिविधियों के कारण किसी के पास भी बीमार होने का समय नहीं है, लेकिन आजकल के बच्चों में जो जीवनशैली देखी जाती है जिसके चलते बीमारी से बचना बहुत मुश्किल है। व्यायाम करना, स्वस्थ आहार लेना और पूरी नींद लेना स्वस्थ रहने के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। [ये भी पढ़ें : जीवन में अच्छे बदलावों के लिए जरुरी है मेडिटेशन]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "