Love Your Enemies: अपने दुश्मनों को क्यों पसंद करना चाहिए

Read in English
Reasons to Love Your Enemies

Love Your Enemies: आपके दुश्मन आपको सफल बनाने में मदद करते हैं

Love Your Enemies: दोस्त जीवन में जितने जरूरी होते हैं, उतने ही दुश्मन भी होते हैं। हम अपने दुश्मनों से भी बहुत सी सिख ले सकते हैं। उनके दिए हुए धोखे और दर्द से हम मानसिक रूप से मजबूत हो जाते हैं और जिंदगी को सकारात्मकता से देखने लगते हैं। इसके अलावा उनके दिए गए धोखे की वजह से हम आगे के जीवन में सतर्क हो जाते हैं। अगर आपका कोई दुश्मन है तो आप उसे नफरत करने के बजाय उनके व्यवहार से कुछ सीख ले सकते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि उनकी नफरत आपके लिए लाभकारी साबित हो जाती है और आप अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए और अधिक मेहनत करने लगते हैं। कभी-कभी दोस्त से ज्यादा आपको आपके दुश्मन आगे बढ़ने की प्रेरणा दे देते हैं। [ये भी पढ़ें: अपने दुश्मनों से क्या चीजे सीखें]

Love Your Enemies: दुश्मन को पसंद करने के पीछे क्या कारण होते हैं:

  • उनकी नकारात्मक टिप्पणियां आपको सफल बनने में मदद करती है
  • आपके बीच गलतफहमी हो सकती है
  • आपको सकारात्मक बनाता है
  • आप प्यार को सराहना सीखते हैं
  • आपके गुस्से को नियंत्रित करना सिखाता है

उनकी नकारात्मक टिप्पणियां आपको सफल बनने में मदद करती है:
यदि आपका कोई दुश्मन आपको नकारात्मक टिप्पणियां देते रहता है तो उससे आपको सिख मिलती है और उससे आप सफलता की ओर बढ़ते हैं। अपने बारे में उनसे बुरी बाते सुनकर आप खुद को आंकते हैं और सफल बनने के प्रयासों में लग जाते हैं। [ये भी पढ़ें: नकारात्मक विचार भी आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं, जाने कैसे]

आपके बीच गलतफहमी हो सकती है:
कई बार जिसे आप अपना दुश्मन समझ रहे होते हैं वो वास्तव में आपका दुश्मन नहीं होता है। ऐसे में आपको उनसे बात करनी चाहिए और अपने बीच की गलतफहमी को दूर करनी चाहिए। हो सकता है कि आप बहुत अच्छे दोस्त बन जाएं। [ये भी पढ़ें: रिश्ते में चुप्पी साध लेना आपको कैसे नुकसान पहुंचाता है]

आपको सकारात्मक बनाता है:

Why to love your Enemies
love your Enemies: आपको सकारात्मक बनाते हैं

आपके कई दुश्मन ऐसे होते हैं जो हमेशा आपके बारे में नकारात्मक बातें बोलते रहते हैं। ऐसे में आपके इगो को ठेस पहुंच जाती है और आप उनकी बातों को सकारात्मकता से लेते हैं और जीवन अपने अंदर की अच्छाई को जान पाते हैं। [ये भी पढ़ें: नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों में कैसे बदलें]

आप प्यार को सराहना सीखते हैं:
जब आपके दुश्मन होते हैं तो आपको प्यार करने वाला भी होता है। आपके दुश्मन आपके अंदर के प्यार को बाहर निकालने में मदद करते हैं और आपको अपने जीवन के उन लोगों का महत्व समझ आता है जो आपसे वास्तव में प्यार करते हैं।

आपके गुस्से को नियंत्रित करना सिखाता है:
सही बात तो यह है कि आपका दुश्मन ही आपको अपने गुस्से पर नियंत्रण करना सिखाता है क्योंकि आपको वो आपको कई ऐसी बातें बोलता है जिसका जवाब आप नहीं दे पाते हैं और ना ही अपने अंदर के गुस्से को उनपर निकाल सकते हैं।

[जरूर पढ़ें: अपनी खुशी के लिए दूसरों पर निर्भर होना कैसे बंद करें]

दोस्त के साथ-साथ दुश्मन भी जरूरी होते हैं ताकि आपको अपने जीवन के लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद मिलें।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "