नज़रअंदाज करने से और बढ़ सकती है आपकी उदासी

Ignoring sadness can make it even worst

Pic Credit: askopinion.com

यह सच है कि हर व्यक्ति अपने जीवन में दुख और उदासी का होना पसंद नहीं करेगा लेकिन यह भी सच है कि जिंदगी में जहां खुशी है, वहां दुख भी है। हम सभी इसी कोशिश में लगे होते हैं कि किस तरह दुख और उदासी से बचा जाएं या इन्हें नज़रअंदाज किया जाए। हालांकि दुख किसी ना किसी तरीके से हर हमारे जीवन में जगह ले ही लेता है जैसे रिलेशनशिप में झगड़ें, काम का बोझ, ब्रेकअप या किसी तरह की निराशा। दुख को नजरअंदाज करने से आप बच नहीं सकते हैं, बल्कि अगर आप ऐसा करते हैं तो यह समस्या बढ़कर तनाव या डिप्रेशन का रुप ले सकती है। इसलिए बेहतर है कि आप इसका सामना करके इससे बाहर निकले और खुशियों को रिइन्वेंट करें।[ये भी पढ़ें: हमेशा खुश रहने वाले लोगों से ये कुछ चीजें जरुर सीखें]

उदासी से निपटने के लिए अपनाएं बेहतर दृष्टिकोण

उदासी और दुख के बिना आप खुशी क महत्व नहीं समझेंगे
उदासी और दुख एक दूसरे से संबंधित हैं। अगर एक ना हो तो दूसरे को परिभाषित करना मुश्किल हैं। जिस तरह अंधेरे के अभाव में हम रोशनी के महत्व को नहीं समझ पाएंगे उसी तरह अगर आपकी जिंदगी में दुख और उदासी नहीं होगी तो आप खुशियों का महत्व नहीं समझ पाएंगे। इसी कारण दुख को नज़रअंदाज करने की बजाय इसका सामना करें।

उतार-चढ़ाव जिंदगी का हिस्सा होते हैं
किसी की जिंदगी पर्फेक्ट नहीं होती। हर किसी के जीवन में परेशानियां और चुनौतियां होती हैं। अगर आप इस तरह की समस्याओं से परेशान हो जाते हैं तो आप सफलता का स्वाद कभी नहीं चख पाएंगें। इसलिए जरुरी है आज की परेशानियों को लेकर नकारात्मक सोच ना बनाएं और आने वाले समय के लिए खुद को तैयार करें।[ये भी पढ़ें: नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों में कैसे बदलें]

अपनी भावनाओं पर ध्यान दें
हर रोज आप विभिन्न समय पर विभिन्न भावनाओं को महसूस करते हैं। इन भावनाओं पर ध्यान दें। अगर आप दुखी और परेशान हैं, तो उन पलों को याद करें जिनमें आपकी खुशहाल यादें बसी हैं। इससे आप दुखी पल में भी ख़ुद को खुश रख सकते हैं।

नेगेटिव और पॉजिटिव चीजों को लिखें
अगर आपके साथ दिन या सप्ताह में कुछ नेगेटिव हो रहा है तो स्वभाविक है कि सकारात्मक चीजें भी हो रही होगी। ऐसे में आप सप्ताह भर के लिए रोज 3 सकारात्मक चीजें और 1 नकारात्मक चीज लिखें जिसका आपने सामना किया है। इससे आपके पास सप्ताह के अंत में 21 अच्छी चीजें होंगी जिससे आप खुद को प्रेरित रख पाएंगे। [ये भी पढ़ें: हर सुबह अपना स्वभाव खुशनुमा कैसे बनाएं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "