हैप्पी हार्मोन डोपामाइन को इन तरीकों से बढाएं

Read in English
how to increase dopamine level in your brain

डोपामाइन दिमाग में मौजूद एक हार्मोन होता है, जिसे आमतौर पर “हैप्पी हार्मोन” भी कहा जाता है। जो हमारे आनंद, प्रेरणा और मूड को नियंत्रित करने का काम करता है। दिमाग में डोपामाइन स्तर में कमी होने से हमें प्रेरणा में कमी, तनाव, थकान और किसी नशे की आदत पड़ सकती। लेकिन थोड़ी-सी सतर्कता और सावधानियों के जरिए हम प्राकृतिक रूप से डोपामाइन के स्तर को बढ़ा सकते हैं और फिर से एक स्वस्थ और खुशहाल जीवन व्यतीत कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: जानें सब कुछ होकर भी क्यों नहीं रह पाते हैं आप खुश]

1.बुरी आदतों को छोड़कर:
किसी भी बुरी आदत की लत लग जाना हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है। शुरुआत में हमें यही आदतें बहुत फंतासी की तरह लगती हैं, लेकिन आगे चलकर इन्हीं आदतों की लत आपके डोपामाइन स्तर को कम भी कर सकती है।

2.छोटे-छोटे कामों को नोट करें: किसी भी काम के पूरा हो जाने का भाव आपके दिमाग में डोपामाइन के स्तर को बढ़ाता है। अक्सर देखा गया है कि डोपामाइन स्तर की कमी के चलते लोग अपने कामों को टालमटोल करने लगते हैं। [ये भी पढ़ें: खुशी से जुड़ी कुछ गलत अवधारणाएं]

3.प्रतिभा को पहचाने:
डोपामाइन आपको अपनी प्रतिभा पहचानने में मदद करता है। हमें हर दिन कुछ नया, कुछ रचनात्मक करते रहने की कोशिश करनी चाहिए। जो भी काम करने में आपको आनंद मिलता हो, उसे करते रहने से आपके डोपामाइन स्तर में बढोतरी होती है।

4.शारीरिक गतिविधियों में शामिल होना: शारीरिक गतिविधियों को करने से हमें तनाव से राहत मिलती है, जिसके कारण हमारे दिमाग में डोपामाइन स्तर बढ़ता है। शारीरिक गतिविधि से मतलब सिर्फ भारी-भरकम वर्कआउट से नहीं है, ये कोई भी गतिविधि, खेल, व्यायाम हो सकता है, जिसमें आप सहज महसूस करें।

5.टायरोसिन बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ खाकर: टायरोसिन एक अमीनो एसिड है, जिसे डोपामाइन बढ़ाने के लिए जरुरी माना जाता है। इस अमीनो एसिड को कुछ खाद्य पदार्थों की मदद से शरीर के अन्दर पहुंचाया जा सकता है। बादाम, केला, चिकन, चॉकलेट, कॉफ़ी, अंडे आदि खाकर आप टायरोसिन को बढ़ा सकते हैं। [ये भी पढ़ें: नकारात्मक परिस्थिति में भी कैसे रखें सकारात्मक सोच बरकरार]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "