दुख की परिस्थियों में भी खुद को कैसे खुश रखें

how to feel happy in adverse condition

हर इंसान कभी-कभी खुद को दुखी महसूस करता है। खुशी और गम दोनों ही जीवन का हिस्सा हैं। बहुत से लोगों के साथ जीवन में बदलाव के समय दुखी होना सामान्य होता है। दुखी होने के बहुत कारण हो सकते है- जॉब छूट जाना, मां-बाप के बीच हमेशा लड़ाई होते रहना, अपने साथियों से ज्यादा दिनों तक दूर रहना, प्यार में धोखा मिलना या और भी कई कारण हो सकते हैं। लेकिन दुखी होकर जीना नहीं छोड़ना चाहिए बल्कि उस दुख से बाहर निकलने का रास्ता ढूंढना चाहिए। तो आइए आपको बताते हैं कुछ ऐसे तरीकों के बारे में जो आपको दुखों के सैलाब से बाहर आने में मदद करेंगे और आप धीरे-धीरे अपनी खुशहाल जिंदगी की ओर बढ़ जाएंगे।
1-अपनी भावनाओं को लिखें:

अगर आप किसी बात से बहुत परेशान हैं और आप अपनी बात किसी से शेयर नहीं करना चाहते हों या बता नहीं पा रहे हैं तो आप अपनी भावनाओं को पेपर पर लिखें। इससे आपका मन हल्का होता है। ऐसा करने से आप अपने दुखी होने का कारण भी अच्छे से जान पाएंगे और उसको दूर करने की कोशिश भी कर पाएंगे। लिखते समय इस बात पर ध्यान ना दें कि आप कैसा लिख रहे हैं बस अपनी परेशानी को लिखकर अपना मन हल्का करने की सोचें।
2- जितना हो सके उतना हंसिए:

how to feel happy in adverse condition
photo credit-beliefnet.com

बहुत सी किताबों में लिखा होता है कि की हंसने और मुस्कुराने से दुख कम होता। थोड़ी देर के लिए ही सही कम से कम आप अपने दुख को भूल जाते हैं। हंसने से एंडोर्फिन कैमिकल रिलीज होते है जो आपके मूड को अच्छा करने में आपकी मदद करते है। अगर आप बिना किसी मेहनत हंसना चाहते हैं तो- हंसने वाले वीडियो देखे या फिर अपने दोस्तों के साथ समय बिताए। इससे आप अपने दुख बहुत जल्दी भूल जाएंगे। [ये भी पढ़ें: जानिए क्यों बुद्धिमान व्यक्ति नहीं ढूंढ पाते हैं खुशी]
3-दिल खोलकर रोईए:

अगर आप बहुत दुखी हैं और रोने का मन कर रहा है तो खुलकर रोना चाहिए। अपने दर्द को दबाने से दर्द बढ़ता है इसलिए रो कर आप अपना मन हल्का कर सकते हैं। इससे दर्द भी कम हो जाता है। कभी रोने से अच्छा महसूस होता है। अगर आप अपने आंसू को नहीं रोक पा रहें हैं और आपका रोने का बहुत मन कर रहा है अपने आंसूओं को रोकिए मत बहने दीजिए। इससे आपको कुछ समय बाद हल्का महसूस होने लगेगा।
4-अपने दुख को समझें:
गम भी जीवन का एक अनुभव होता है। ये बहुत ही दुखदायी भावनाएं होती हैं जो ज्यादातर बाहरी कारणों की वजह से होती हैं। दुख एक ऐसा इमोशन हैं जो जीवन में हर कोई महसूस करता है। अगर आप से कोई गलती हो गई है और आप उसको लेकर दुखी हैं तो माफी मांग लेनी चाहिए ताकि कोई आपकी बातों से दुखी ना हो। [ये भी पढ़ें: अपनी मां के चेहरे पर देखना चाहते हैं मुस्कुराहट तो अपनाएं ये तरीके]

5-अपने दोस्तों से बात करें:

how to feel happy in adverse conditionअगर आप दुखी हैं तो आप अपने किसी अच्छे दोस्त से अपने दुख को शेयर कर सकते हैं। कहते हैं दुख बांटने से कम होता है। साथ ही ऐसे लोगों से दूर रहें जो आपके दुख का कारण हो या आपके दुख को समझने के बजाय उसे और बढ़ा दें।
6- अच्छा खाएं:

photo credit-story.wedding.com

वैज्ञानिकों के अनुसार हम जो भी खाते हैं उसका प्रभाव हमारे मूड पर पड़ता है। अगर आप थका हुआ या दुखी महसूस कर रहे हैं तो आपको हाई कार्बोहाइड्रेट, ब्रेड-जैम जैसी चीजों का सेवन करना चाहिए। इससे आपके दिमाग में अमीनो एसिड ट्रिप्टोफैन रिलीज होते हैं। जो सेरोटोनिन में बदल जाते हैं और 30 मिनट के अंदर आपका मूड बदलने में मदद करते हैं।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "