नए साल पर खुश रहने के लिए कुछ चीजें छोड़े और अपनाएं

follow some habits to stay happy in new year

Photo credit: lionessebeautybar.net

साल दर साल जैसे समय बीतता जाता है हमारी उम्र और तजुर्बा दोनो बढ़ते जाते हैं। हर साल, हर समय, हर घड़ी, हर पल आप कुछ नया सीखते हैं जो आपके जीवन को बेहतर बनाने में आपकी मदद करता है। आप अपना जीवन अपने परिवार और अपनों को खुश रखने में बिता देते हैं और बहुत बार अपनी खुशी को छोड़ देते हैं। लेकिन अपनी खुशी का ख्याल आपको खुद रखना होता है। इसलिए हम आपको नए साल पर खुश रहने के कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं। इस साल खुद को थोड़ा सेल्फिश बन जाने दीजिए और फिर देखिए की साल आपके लिए कितना बेहतर हो जाता है।[ये भी पढ़ें: थोड़ा सा स्वार्थी होना कैसे आपको खुश रख सकता है]

डरना छोडे़ं: इस साल आप डर को अपने जीवन से निकाल दीजिए। दूसरों को अपने जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए दौड़-भाग करते देखना आसान होता है। लेकिन अगर आप अपने लक्ष्यों को पाने की कोशिश नहीं कर रहें है और कुछ भी नया अजमाने से डर रहे हैं तो यह साल है इस चीज को छोड़ने का। अपने मन से असफलता के डर को निकाल कर नया सीखने और अजमाने की कोशिश करें।[ये भी पढ़ें: नाखुश लोग किन चीजों में खुशी ढूंढते हैं]

उन लोगों का साथ छोड़ें जो आपको महत्व नहीं देते : बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो आपको अपनी हर परेशानी बताते हैं और आपको अपना सबसे भरोसेमंद बताते हैं। लेकिन जब आपको जरुरत होती है तो ये कभी आपके काम नहीं आते हैं। इसलिए ऐसे लोगों का साथ छोड़ें क्योंकि ये सिर्फ आपको धोखा देगें और कुछ नहीं।

जहां आपको महत्वपूर्ण महसूस नहीं होता वो वहां ना जाएं: अगर आप रोजाना ऑफिस में काम करते हैं लेकिन उसके बावजूद भी लोग वहां आपको ,आपके काम को और आपके विचारों को तवज्जो नहीं देते तो बेकार होने का डर छोड़े। उस काम को छोड़े और वहां काम करें जहां आपको महत्व मिले।

उन चीजों में समय बर्बाद करना बंद करें जो महत्वपूर्ण ना हो: वीकेंड के दिन कुछ नया करने, सीखने के और मूड को सही करने के होते हैं। लेकिन अगर आप पूरा दिन सोकर,आलस में बिता देते हैं या सोशल मीडिया पर बेकार के वीडियो देखकर समय खराब करते हैं तो इस साल ये करना बंद करें। एक्टिव बनें और समय बर्बाद करना छोड़ें।

दूसरों को खुश करने के लिए खुद को परेशान ना करें: जिम्मेदार होना आपकी खूबी हो सकती है लेकिन अक्सर लोगों का काम खुद पर लेने से वे आपको रोजाना काम थमाने लगते हैं और रोजाना अपने ऊपर जरुरत से ज्यादा काम और जिम्मेदारियों का बोझ आपको तनाव का शिकार बना देता है। इसलिए खुद को जरुरत से ज्यादा काम के बोझ के नीचे ना दबने दें। [ये भी पढ़ें: केवल जीने के बजाय जिंदगी को कैसे बेहतर बनाना सीखें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "