जानें क्या है स्माइलिंग डिप्रेशन की समस्या

Read in English
What is smiling depression and its treatment

ऐसे कई लोग होते हैं जो ऊपर से तो हंसते दिखाई देते हैं लेकिन अंदरूनी तौर पर वो पूरी तरह से निराश और अवसादग्रस्त होते हैं। ऐसे कई लोग होते हैं जो सार्वजनिक जगहों पर खुश तो दिखाई देते हैं लेकिन एकांत में जाकर घंटो सोचते हैं और निराश रहते हैं। इस तरह की समस्या आज के दौर में आम हो गयी है। लोग खुश दिखाई देते हैं पर खुश होते नहीं है। इस तरह के डिप्रेशन को स्माइलिंग डिप्रेशन के नाम से जाना जाता है और ये समस्या ध्यान न देने पर पूरी तरह से डिप्रेशन जैसी समस्या के रूप में तब्दील हो सकती है। [ये भी पढ़ें: डिप्रेशन के दौरान कैसे रखें नकरात्मकता पर काबू]

स्माइलिंग डिप्रेशन के लक्षण:

  • हर समय डिप्रेस्ड और निराश रहना।
  • उन कामों में मन नहीं लगना या उन कामों से आनंद नहीं मिलना जिसे व्यक्ति एक बार व्यक्ति खूब पसंद करता हो।
  • वजन में एकाएक कमी आना और भूख में कमी।
  • इनसोम्निया या हाइपरसोम्निया।
  • बिना किसी मतलब के हाथों को मोड़ना अंगुलियां, चटकाना।
  • थकान और ऊर्जा की कमी।
  • खुद को दोषी समझने की भावना का होना।
  • एकाग्रता में कमी।
  • आत्महत्या करने का ख्याल आना।

स्माइलिंग डिप्रेशन का उपचार:
1.उचित एवं संतुलित खानपान: हमारा मूड सेरोटोनिन नामक तत्व से नियंत्रित होता है। 90 प्रतिशत सेरोटोनिन पेट में ही बनता है। इस लिहाज से खानपान का संतुलित होना शरीर में सेरोटोनिन के स्तर को प्रभावित कर सकता है जिससे हमारा मूड प्रभावित हो सकता है। हरी सब्जियों और कार्बोहाइड्रेट के अच्छे स्रोतों जैसे जई, शकरकंद का सेवन करना शरीर में सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाता है जिससे ये समस्या दूर होती है। [ये भी पढ़ें: ब्रेकअप के बाद होने वाले डिप्रेशन से कैसे करें सामना?]

2.लाइट थेरेपी: विटामिन डी का मुख्य स्रोत सूर्य की रोशनी होती है जो जाड़े के मौसम में कम हो जाती है या फिर उन लोगों में विटामिन डी की कमी उत्पन्न होती है जो लोग धूप में कम रहते हैं। विटामिन डी की अच्छी मात्रा डिप्रेशन के स्तर को कम करती है। ऐसी स्थिति में अवसाद(डिप्रेशन) की समस्या को दूर करने के लिए लाइट थेरेपी स्माइलिंग डिप्रेशन के उपचार का एक अच्छा विकल्प माना जाता है।

3.व्यायाम: अवसाद के इस प्रकार के उपचार के लिए व्यायाम करना भी काफी फायदेमंद होता है। योग, मेडिटेशन और हल्के एक्सरसाइज जैसे पुशअप, पाइलेट्स इत्यादि डिप्रेशन इत्यादि की समस्या में फायदेमंद साबित होता है।

4.एक्यूपंचर: स्माइलिंग डिप्रेशन जैसी समस्या को दूर करने के लिए एक्यूपंचर एक अच्छा विकल्प होता है। शरीर में कई ऐसे केंद्र होते हैं जिनका सम्बन्ध दिमाग से होता है। इन केन्द्रों पर दबाव डालने से डिप्रेशन की समस्या से राहत मिलती है।

5.अपने आप को सामान्य स्थिति में रखना: खुद को अपने काम से जोड़े रखना, दोस्तों से मिलना घूमना, जंक फ़ूड का सेवन न करना, शराब से दूर रहना इत्यादि कई ऐसे बातें हैं जिन पर अगर ध्यान दिया जिया तो डिप्रेशन का स्तर खुद-ब-खुद कम हो जाता है।

6.किसी अच्छे मनोवैज्ञानिक या मनोचिकित्सक की सलाह लेना: उस स्थति में जब डिप्रेशन की समस्या काफी ज्यादा हो जाए या व्यक्ति को ये लगे की ये समस्या ठीक नहीं हो सकती उस स्थति में किसी अच्छे मनोचिकित्सक या मोवैज्ञानिक से सलाह लेनी चाहिए। [ये भी पढ़ें: ऐसी अवस्थाएं जिन्हें लोग डिप्रेशन समझने की भूल कर बैठते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "