डिप्रेशन से जुड़े अजीबो-गरीब लक्षण

Read in English
surprising-symptoms-of-depression

डिप्रेशन एक मानसिक बीमारी है जो की ‘साइलेंट किलर’ की तरह काम करता है। डिप्रेशन एक ऐसा मेंटल डिसऑर्डर है जो कि आपको मानसिक के साथ शारीरिक रुप से भी आपको प्रभावित करता है। इससे आप धीरे-धीरे उदासी और निराशा में घिरते चले जाते हैं। समय पर डिप्रेशन का इलाज करना अत्यंत आवश्यक होता है अन्यथा पीड़ित व्यक्ति के लिए यह अत्यंत घातक हो सकता है। पीड़ित में डिप्रेशन के लक्षण पहले ही दिखने लग जाते है इसलिए इन लक्षणों की पहचान करना काफी जरुरी होता है। डिप्रेशन के कुछ अजीबो-गरीब लक्षण भी होते हैं जिनके बारे में सबको पता नहीं होता है। तो आइए आपको इन्हीं अजीबो-गरीब लक्षणों के बारे में बताते हैं।[ये भी पढ़ें: पुरानी यादों को भुलाकर डिप्रेशन से कैसे बाहर आएं]

1.बहुत ज्यादा सोना: तनाव और अवसाद के कारण नींद नहीं आती है यह तो आप सब जानते हैं लेकिन आपको यह नहीं पता होगा की बहुत ज्यादा सोना भी डिप्रेशन का लक्षण होता है। 8 घंटे की नींद हर किसी के लिए आवश्यक होती है लेकिन अगर कोई व्यक्ति रोजाना 8 घंटे से बहुत ज्यादा सोता है तो यह डिप्रेशन का एक लक्षण हो सकता है।

2. शरीर में दर्द होना: जब आपके दिमाग में सबकुछ ठीक नहीं होता तो आपके शरीर में भी दर्द होता है। ऐसा तब होता है जब आप नकारात्मक रहते हैं तो अपने शरीर के दर्द पर ज्यादा ध्यान देना शुरु कर देते हैं जिससे आपको ज्यादा दर्द महसूस होता है। डिप्रेशन के कारण आपको अक्सर पेट , सिर, हाथ-पैर आदि शरीर के हिस्सों में दर्द हो सकता है। [ये भी पढ़ें: व्यवहार जो बताते हैं कि आप डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं]

3.बहुत ज्यादा सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना: यह डिप्रेशन का एक ऐसा संकेत है जिसके बारे में आप शायद ही जानते होंगे। हालांकि आजकल लोग बहुत ज्यादा फोन का इस्तेमाल करते हैं लेकिन डिप्रेशन से ग्रस्त लोग सोशल मीडिया का अत्यधिक इस्तेमाल करने लगते हैं। ऐसे में उन्हें किसी और चीज का ध्यान नहीं रहता और वे बहुत ज्यादा सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं। बहुत ज्यादा सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना भी आपके दिमाग को नुकसान पहुंचाकर डिप्रेशन का शिकार बना देता है।

4.दिमाग में बहुत ज्यादा विचार आते रहना: डिप्रेशन के कारण दिमाग में बहुत सारे विचार आते रहते हैं। ऐसे में व्यक्ति सही मूड में नहीं होता और अक्सर नकारात्मक विचार आते हैं। ऐसे में व्यक्ति चिंतित, उदास और परेशान रहता है। वह अंदर से दुखी और उदास रहता है और बहुत ज्यादा सोचता है।

5.आप बालों को कंघी नहीं करते हैं: जो लोग डिप्रेशन का शिकार होते हैं वे अक्सर अपना ख्याल रखना बंद कर देते हैं। अक्सर डिप्रेशन से परेशान लोग अपने बालों को कंघी नहीं करते हैं ।उनके लिए अपने आपको अच्छा दिखाना अधिक महत्वपूर्ण नहीं होता है। वे ना तो अपनी खूबसूरती और ना ही अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखते हैं।[ये भी पढ़ें: पोषक तत्वों की कमी के कारण भी आप हो सकते हैं डिप्रेशन का शिकार]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "