Lifestyle Factors: लाइफस्टाइल कैसे आपको डिप्रेशन से ग्रसित कर देता है

Read in English
lifestyle causes of depression

Lifestyle Factors: डिप्रेशन से बचने के लिए लाइफस्टाइल में बदलाव लाएं

Lifestyle Factors: डिप्रेशन एक मानसिक विकार है जो इंसान को अंदर से खोखला कर देता है। डिप्रेशन से ग्रसित लोगों के दिमाग में कई प्रकार के सवाल आते रहते हैं और वो कई चीजों के बारे में सोचते हैं। डिप्रेशन के पीछे कई कारण होते हैं जैसे- अनुवांशिकता, किसी अपने से दूर हो जाना, किसी प्रकार का सदमा लगना या फिर नौकरी छूट जाना। लाइफस्टाइल में बदलाव आने की वजह से भी कई लोग डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। इस समस्या से बचने के लिए लोग अनेकों प्रयास करते हैं और कई प्रकार की दवाइयों का सेवन भी करते हैं। लेकिन कई बार ये दवाइयां शरीर पर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं और डिप्रेशन को कम करने के बजाय इसे और खराब कर देते हैं। ऐसे में दवाइयों के बजाय आप अपने लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव लाकर भी इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि लाइफस्टाइल डिप्रेशन का शिकार कैसे बना देता है। [ये भी पढ़ें: खुश रहने वाले लोग भी डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं]

Lifestyle Factors: लाइफस्टाइल और डिप्रेशन कैसे एक-दूसरे से जुड़ा हुआ है:

  • तनाव
  • दुख
  • लोगों से अलग हो जाना
  • पर्याप्त नींद ना लेना
  • भावनात्मक रूप से कमजोर होना

तनाव:

Habits That Can Make Your Depression Sypmtoms Worse
Lifestyle Factors: अधिक तनाव लेना डिप्रेशन का कारण बनता है

लोग आजकल छोटी-छोटी बातों का तनाव लेने लगते हैं और यह बाद में डिप्रेशन का रूप ले लेता है। डिप्रेशन से बचने के लिए आपको सबसे पहले अपने तनाव को कम करने की जरूरत है और इस समस्या से छुटकारा कैसे पाया जाए इस बात को समझने की जरूरत है। [ये भी पढ़ें: Stress affects hair : तनाव कैसे आपके बालों के प्रभावित करता है]

दुख:
किसी प्रकार का दुख हो जाना भी आपको डिप्रेशन से ग्रसित कर सकता है। इसलिए यदि आपको किसी प्रकार का दुख हो तो आपको किसी अपने से बात करना चाहिए ताकि आपका मन हल्का हो सके।

लोगों से अलग हो जाना:
कई बार किसी अपने जो आपके दिल के बहुत करीब हो उनसे दूर हो जानें की वजह से भी आप डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। ऐसे में आप कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा समय अपनों के साथ बिताएं और उनसे अपने दिल की बातें करें।

पर्याप्त नींद ना लेना:

Risk Factors for Major Depressive Disorder
Lifestyle Factors: पर्याप्त नींद नहीं लेने से इंसान डिप्रेशन का शिकार हो जाता है

पर्याप्त नींद नहीं लेना भी एक डिप्रेशन का लक्षण है। नींद पूरी नहीं होने के कारण आपका दिमाग प्रभावित होता है और कई बार यह डिप्रेशन का कारण बन जाता है। ऐसे में रोजाना कम से कम 6-7 घंटे की नींद जरूर पूरी करें।[ये भी पढ़ें: better sleep: बेहतर नींद के लिए जरुरी विटामिन्स]

भावनात्मक रूप से कमजोर होना:
कई लोग भावनात्मक रूप से कमजोर होते हैं और इस वजह से उन्हें लोगों द्वारा की गई निंदा कमजोर कर देती है और वो उस चीज के बारे में इतना सोचते हैं कि वो डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं।

[जरूर पढ़ें: खाद्य पदार्थ जो डिप्रेशन से आपको दूर रखने में मदद करते हैं]

डिप्रेशन से बचने के लिए आपको अपने दैनिक दिनचर्या में अनेकों बदलाव लाने की जरूरत है। कोशिश करें कि छोटी-छोटी चीजों को अधिक गंभीरता से ना लें।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "