खुश रहने वाले लोग भी डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं

Read in English
how most happiest people can even face depression

किसी खुश इंसान को देखकर हम अक्सर गलती कर देते हैं और विचार बना लेते हैं कि वह व्यक्ति काफी खुश है। हम ये नहीं सोचते हैं कि उस व्यक्ति को भी कुछ चीजें परेशान कर सकती हैं। सबसे अधिक खुश दिखने वाले लोग भी अक्सर डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं। वे लोग अक्सर खुशी के चेहरे के पीछे अपने दर्द और दुख को छिपाने की कोशिश करते हैं। हालांकि, वो अंदर से टूट चुके होते हैं। हम अक्सर सोचते हैं कि वो खुश हैं इसलिए वे डिप्रेशन में नहीं हो सकते। हालांकि अगर कोई व्यक्ति हर समय खुश रहता है तो इसका मतलब ये नहीं है वह डिप्रेशन का शिकार नहीं हो सकते हैं। आइए जानते हैं कि कैसे खुश रहने वाले लोग भी डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं। [ये भी पढ़ें: डिप्रेशन से जुड़े अजीबो-गरीब लक्षण]

  • जिन लोगों ने अपने जीवन में सबसे खराब समय देखा होता है, वो उनके चेहरे पर हँसी या मुस्कुराहट रखकर अपने दुःख को छिपाने की कोशिश करते हैं। उन्हें लगता है कि दुख को जाहिर करना उन्हें कमजोर बना देगा और वो लोगों की सहानुभूति लेने में विश्वास नहीं रखते हैं। इसलिए वो अपने चारों ओर खुशी फैलाने की कोशिश करते हैं।
  • हालांकि उन्हें अपने दर्द को छिपाने की आदत हो जाती है लेकिन इसके बावजूद भी वो लोग डिप्रेशन में होते हैं क्योंकि वो अपना दर्द किसी के साथ साझा नहीं करते हैं। वे अकेले होते हैं और अंदर से टूट चुके होते हैं लेकिन यह कभी उनके चेहरे पर ज़ाहिर नहीं होता। [ये भी पढ़ें: जब कोई आपका करीबी डिप्रेशन से ग्रसित हो तो क्या करें]
  • ऐसे लोग सभी के सामने अपने दुख को दिखाने में विश्वास नहीं रखते हैं। जीवन में सबसे खराब समय देखने के बाद वो इतने मजबूत हो जाते हैं, कि वो अपने दुःख को छिपाने में माहिर हो जाते हैं। ऐसे में अक्सर वो अपने दोस्तों के साथ घूमते हैं और दूसरों को खुश करने की कोशिश करते हैं।
  • एक बार असफल होने से कोई व्यक्ति डिप्रेशन में नहीं होता है। यह कई असफलताओं और दुःख के कारण होता है। ऐसे में लोग सभी से अलग हो जाते हैं और अपने अस्तित्व पर ही सवाल करने लगते हैं। नौकरी में असफलता, दिल टूटना, परिवार के किसी सदस्य को खोना, शारीरिक बीमारी, दोस्ती टूटना आदि चीजें व्यक्ति को उदास कर देती हैं और वह डिप्रेशन में जा सकता है।
  • बहुत से लोग डिप्रेशन में होने के बाद भी मुस्कुराते रहते हैं और ऐसे में वो उन परिस्थितियों में भी मुस्कुराते रहते हैं जहां उनके लिए ऐसा करना मुश्किल है। उन्हें एहसास नहीं होता लेकिन वे अपने चेहरे पर मुस्कुराहट लाकर अपने दुःख को ढ़क लेते हैं।
  • हमें किसी व्यक्ति की आदतों या मुस्कुराहट को लेकर कभी बिना सोचे समझें राय नहीं बनानी चाहिए। उनके कार्यों को बारीकी से देखने की कोशिश करें और अगर आपको लगता है कि उस व्यक्ति के जीवन में लोगों की कमी है, तो दुख को कम करने में उनका साथ दें। इससे उन्हें डिप्रेशन से लड़ने में मदद मिलेगी। [ये भी पढ़ें: बातें जो डिप्रेशन से ग्रसित व्यक्ति को कहनी चाहिए]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "