क्या विटामिन्स का सेवन डिप्रेशन की समस्या को दूर करता है

Read in English
Does consuming vitamins helps to treat depression

विटामिन का सेवन डिप्रेशन के इलाज के लिए फायदेमंद होता है। हालांकि, कई लोगों को इस बात की जानकारी नहीं होती है कि विटामिन्स का सेवन डिप्रेशन की समस्या को कम करने में मदद करता है। विटामिन्स का सेवन करने से आपके मष्तिष्क बूस्ट होता है और साथ ही आपकी चिंता और परेशानी भी कम होती है। लेकिन इससे पहले कि कोई भी सप्लिमेंट्स या विटामिन लेना शुरू कर दें, अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें। आपको एक बात ध्यान में रखना चाहिए कि एक संतुलित और पौष्टिक आहार शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहने का एकमात्र प्राकृतिक तरीका होता है। ऐसे में विटामिन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है और आपके सोचने की शक्ति को भी बढ़ाता है। आइए जानते हैं विटामिन्स का सेवन डिप्रेशन की समस्या को कैसे दूर करता है।  [ये भी पढ़ें: खुश रहने वाले लोग भी डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं]

आइए देखें कि विटामिन के प्रकार को किस प्रकार लेना चाहिए:

बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन: विटामिन बी- कॉम्प्लेक्स व्यक्ति को भावनात्मक और मानसिक रूप से फिट रखने के लिए आवश्यक होता है। विटामिन बी बहुत पानी में घुलनशील होता है। तो अगर कोई व्यक्ति अल्कोहल, कैफीन आदि का उपभोग करता है तो उसके शरीर में विटामिन बी कमी हो जाती है।

डिप्रेशन और विटामिन बी का क्या संबंध है:

विटामिन बी1(थायमिन): यह शरीर के ऊर्जा को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह ग्लूकोज और चीनी को ईंधन में बदलने में मदद करता है जो मस्तिष्क को उचित कार्य करने में मदद करता है।  [ये भी पढ़ें: बातें जो डिप्रेशन से ग्रसित व्यक्ति को कहनी चाहिए]

विटामिन बी 3(नियासिन): विटामिन बी 3 की कमी मानसिक और शारीरिक रूप से चिंता और सुस्ती का कारण बन सकती है। विटामिन बी 3 की कमी से मनोचिकित्सा और डिमेंशिया हो सकती है। कुछ खाद्य उत्पादों में नियासिन होता है जो लोगों को पेलेग्रा की समस्या से बचने में मदद करता है।

विटामिन बी 5(पेंटोथेनिक एसिड): विटामिन बी 5 की कमी से व्यक्ति डिप्रेशन में पड़ सकता है और शरीर में थकान और सुस्ती जैसी समस्या महसूस होने लगती है।

विटामिन बी 6(पाइरोडॉक्सिन): विटामिन बी6 शरीर में प्रोटीन और हार्मोन के लिए अमीनो एसिड का उत्पादन करने मदद करता है। विटामिन बी 6 की कमी से कमजोर प्रतिरक्षा, भ्रमित मानसिक स्थिति और त्वचा संक्रमण हो सकता है।

फोलिक एसिड: अनुचित और कमजोर आहार शरीर में फोलिक एसिड की कमी को बढ़ावा देता है। आमतौर पर, जो लोग अत्यधिक शराब और अन्य प्रकार की दवाओं का उपभोग करते हैं, उनमें फोलिक एसिड की कमी हो जाती है। इसलिए, गर्भवती महिलाओं के लिए पर्याप्त विटामिन लेना बहुत महत्वपूर्ण होता है।

विटामिन सी: तनाव को कम करने के लिए के लिए विटामिन सी की आवश्यकता होती है। इसलिए, त्वचा रोगों से छुटकारा पाने के लिए पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी का सेवन करना चाहिए।

खनिज: मैग्नीशियम, कैल्शियम, जिन्क, आयरन, पोटेशियम और पोटेशियम की कमी एक व्यक्ति को डिप्रेशन का शिकार बना देता है और शारीरिक रूप से भी प्रभावित करता है। [ये भी पढ़ें: खाद्य पदार्थ जो डिप्रेशन से आपको दूर रखने में मदद करते हैं]

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "