जाने क्यों जरुरी है यौन संचारित रोगों की जांच करवाना

why it is important to get tested for sexually transmitted disease

photo credit- medscape.com

एसटीडी ( यानि यौन संचारित) रोग ज्यादातर असुरक्षित सेक्स करने से फैलता है। यह ऐसी बीमारी है जिसकी जांच हर किसी को अपने जीवन में एक बार जरुर करवाना चाहिए। इन बीमारियों के कारण भारत में सालाना लगभग 1 से 2 लाख लोग प्रभावित होते है, जिमसे पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की संख्या ज्यादा होती है। दुर्भाग्यवश इतनी बड़ी संख्या होने के बावजूद लोगों के बीच इन बीमारियों को लेकर उतनी जागरूकता नहीं है जितनी होनी चाहिए। [ये भी पढ़ें: असुरक्षित यौन सम्बन्ध से उत्पन्न हो सकती है ब्लैडर इन्फेक्शन की समस्या] 

वर्जिन व्यक्ति को भी यह ‘एस.टी.डी’ हो सकता है: अगर आपका साथी वर्जिन है तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपको उससे ‘एस.टी.डी’ का खतरा नहीं हो सकता है। यह बीमारियां सिर्फ और सिर्फ यौन संबंध बनाने के कारण नहीं होती है, इनमे बहुत सी ऐसी बीमारी होती है, जो परिवार में किसी सदस्य के होने से पूरे परिवार में हो जाती है साथ ही साथ ही जन्म के साथ मां से बच्चे में होने की संभावना ज्यादा होती है या किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी कई बार हो जाती है। इसलिए यह जरुरी नहीं है वर्जिन व्यक्ति के साथ सेक्स करने से यह आपको नहीं हो सकता है। इसीलिए आपको जांच जरुर करवानी चाहिए।

शादीशुदा लोगों में भी यह हो सकता है:
why it is important to get tested for sexually transmitted disease ज्यादातर शादीशुदा लोगों का यह मानना है कि उन्हें इसकी जांच की जरूरत नहीं होती है, क्योंकि उन्हें एक दूसरे पर पूरा भरोसा होता है कि उनसे पहले उसके साथी का किसी अन्य व्यक्ति के साथ यौन सम्बन्ध नहीं हुआ होगा। शादीशुदा लोगों को भी एसटीडी की जांच करवा लेनी चाहिए, क्योंकि हो सकता है कि आपके साथी को पहले के किसी पार्टनर से यह बीमारी लगी हो। [ये भी पढ़ें: यौन संचारित रोगों से जुड़ी जानने योग्य बातें]

देर हो जाने पर भी कराएं जांच: काफी कपल्स का मानना है कि उन्हें जांच की जरूरत नहीं है क्योंकि उन्हें इस बात का भ्रम होता है कि वह पहले भी कई बार असुरक्षित संबंध बना चुके हैं। ऐसे कपल्स ये सोचते है कि अगर उनको एसटीडी होना होता तो पहले ही हो चुका होगा। वे यह सोचकर चुप बैठ जाते हैं कि अगर उन्हें एसटीडी की शिकायत है तो अब काफी देर हो चुकी होगी। मगर ऐसा नहीं है आप को जब भी ऐसा कुछ महसूस हो टेस्ट कराएं और डॉक्टर की सलाह लें। बहुत सारे एसटीडी ऐसे हैं जिनका इलाज समय रहते किया जा सकता है।

इसके बारे में जान लेने से आपका डर कम हो जाता है: यौन संचारित रोगों के बारें सुन कर ही ज्यादातर लोगों में इसका डर बैठ जाता है, जिसकी वजह से लोग इसके बारें में जानना नहीं चाहते हैं और इसकी जांच नहीं करवाते है लेकिन यह ठीक नहीं है। सबसे पहले आपको इन बीमारियों के बारें बहुत पूरी जानकारी लेनी होगी जिससे कि आप इससे बच सके, लेकिन अगर आप इस बात की पूरी तरह से पुष्टि करना चाहते तो आपको इसकी जांच जरुर करवानी चाहिए।

क्योंकि यह आपको और आपके साथी को सही समय पर बचाता है:
why it is important to get tested for sexually transmitted disease जांच करवाने के सभी कारणों में सबसे जरुरी कारण यह है कि यौन संचारित रोग की जांच आप अपने और अपने साथी के सेहत के लिए करवाएं क्योंकि अगर आप इन बीमारियों की जांच सही समय पर करवा लेंगे तो आपको सही समय पर उस बीमारी से निदान मिल सकता है। [ये भी पढ़ें: क्या है ह्यूमन पैपिलोमा वायरस और कैसे बचा जाए इसके संक्रमण से] 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "