ये लक्षण करते हैं यौन संचारित रोगों की तरफ इशारा

these symptoms indicates sexually transmitted diseases

यौन संचारित रोग एक संक्रामक रोग हैं जो पीड़ित व्यक्ति के दूसरे व्यक्ति से संबंध बनाने से होता है। यौन संचारित रोग हर उम्र के लोगों को प्रभावित करता है जो सेक्स करते हैं। आजकल यौन संचारित रोग बहुत ही आम हो गए हैं। ये रोग खासकर युवाओं में ज्यादा होते हैं क्योंकि युवाओं में इनकी जानकारी का अभाव होता है। सेंट्रल फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक यूनाइटिड स्ट्रेट में हर साल 20 मिलियन से ज्यादा लोग यौन संचारित रोगों के शिकार होते हैं। यह एक गंभीर स्वास्थ्य की परेशानी है जिसका अगर उपचार ना किया जाए तो इससे बांझपन के साथ मौत का भी खतरा हो सकता है। तो आइए जानते हैं इसके लक्षणों के बारे में जानते हैं ताकि सही समय पर इसका इलाज किया जा सके।

यौन संचारित रोगों के लक्षण:

1- यूरिनेशन में बदलाव:
अगर आपको यूरिनेशन में जलन और दर्द हो तो यह यौन संचारित रोग के लक्षण हो सकते हैं। यह लक्षण किडनी में पथरी के कारण भी हो सकते हैं इसलिए अगर आपको यूरिनेशन के दौरान दर्द हो तो एक बार टेस्ट जरुर करा लें। अगर आपके यूरिन का रंग अलग हो या खून आए तो आपको एक बार डॉक्टर को जरुर दिखा लेना चाहिए। [ये भी पढ़ें: एच.आई.वी एड्स से जुड़ें मिथक

2- वेजाइनल एरिया में जलन और खुजली होना:
वेजाइनल एरिया में जलन और खुजली सिर्फ यौन संचारित रोगों के कारण नहीं होती हैं बल्कि ये इनका लक्षण है। बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण भी जलन और खुजली होती हैं। इसके बारे में आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए और अगर आपको यौन संचारित रोग नहीं हो तो इंफेक्शन का इलाज जरुर कराएं। [ये भी पढ़ें: एच.आई.वी एड्स से जुड़ें मिथक

3-सेक्स के दौरान दर्द होना:
सेक्स के दौरान महिलाओं को दर्द होना आम बात है। यह यौन संचारित रोगों का एक लक्षण भी हो सकता है। अगर आपको सेक्स के दौरान दर्द में परिवर्तन हो तो यह यौन संचारित रोग के कारण हो सकते हैं। पुरुषों को इजेकुलेशन के दौरान दर्द होना भी यौन संचारित रोगों का लक्षण भी हो सकता है।

4- असामान्य वेजाइनल डिस्चार्ज:
असामान्य वेजाइनल डिस्चार्ज कई इंफेक्शन के लक्षण हो सकते हैं जरुरी नहीं ये सभी यौन संचारित रोगों के लक्षण हों। यौन से होने वाले इंफेक्शन के कारण भी यह डिस्चार्ज होता है। कुछ वेजाइनल डिस्चार्ज मासिक धर्म के दौरान सामान्य होता है। अगर आपको पीरियड्स के दौरान डिस्चार्ज हो तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्योंकि यह कैंसर के भी लक्षण हो सकते हैं।

5- घाव होना: 

these symptoms indicates sexually transmitted diseases
photo credit- slimsassy.com

अगर आपके गुप्तांग के पास घाव होने लगें तो यह यौन संचारित रोग के लक्षण हो सकते हैं। अगर आपके घाव भर गए हैं तो इसका मतलब यह नहीं हैं कि आपके शरीर से इंफेक्शन चला गया है। यदि एक बार आप इनसे ग्रस्त हो गए तो यह वाइरस आपके शरीर में हमेशा रहते हैं।

6-पेलविक में दर्द होना:
पेलविक में दर्द होना कई चीजों के लक्षण हो सकते हैं। कई पेलविक दर्द यौन संचारित रोगों से संबंधित नहीं होते हैं। महिलाओं में पेलविक इनफ्लेमेट्री डिसीज होती है यह तब होता है जब यौन संचारित रोगों का उपचार ना किया जा सके। इस इंफेक्शन से सूजन हो जाती है। जो महिलाओं में बांझपन का बड़ा कारण होती है। [ये भी पढ़ें: जानिए एंडोमेट्रिओसिस से जुड़ी कुछ अहम बातें]

7- अविशिष्ट लक्षण:
यौन संचारित रोग भी बाकि रोगों की तरह एक इंफेक्शन है। इसके भी कई अविशिष्ट लक्षण होते हैं। यह ऐसे लक्षण हैं जो बाकि बीमारियों से भी होते हैं। जैस वजन कम होना, बुखार आना, थकावट होना, शरीर पर निशान होना। इन लक्षणों के द्वारा यौन संचारित रोगों का पता लगाना बेहद मुश्किल होता है।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "