यौन संचारित रोगों की रोकथाम के लिए रखें इन बातों का ध्यान

keep these things in mind to prevent sexually transmitted disease

photo credit-patchcdn.com

यौन संचारित रोग एक इंफेक्शन है जो असुरक्षित यौन संबंध बनाने के कारण फैलते हैं। इसमें छूना भी शामिल है क्योंकि कुछ यौन संचारित रोग छूने से होते हैं। सेंट्रल फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक यूएस में हर साल 20 मिलियन से ज्यादा लोग यौन संचारित रोगों का टेस्ट कराते हैं। अगर लोग अपने यौन स्वास्थ्य को लेकर निर्णय लें तो इसे रोका जा सकता है। यौन संपर्क से बचकर आप इससे बच सकते हैं। मगर यह कारगर तरीका नहीं है क्योंकि सेक्स संबंध बनाना शारीरिक जरूरत की तरह है। मगर कुछ और तरीके भी जिनको अपनाकर आप यौन संचारित रोगों से बच सकते हैं।

1- सेक्स करने से पहले खुद को कैसे बचाएं:
ऐसे बहुत से तरीके हैं जिससे सेक्स करने से पहले आप यौन संचारित रोगों के खतरे को कम कर सकते हैं।

  • अपने पार्टनर की संख्या सीमित कर दें।
  • अपनी पुराने संबंधों के बारे में अपने पार्टनर को सब बता दें।
  • सेक्स से पहले अपना और पार्टनर दोनों का टेस्ट कराएं।
  • नशे की हालत में सेक्स ना करें।
  • हेपेटाइटिस बी और ह्यूमन पेपिलोमा वायरस के लिए वैक्सीनेशन जरुर करवाएं।
  • दूसरों के तौलिए का इस्तेमैल ना करें।
  • अगर आपको टेस्ट से पता चल जाए की आपको यौन संचारित रोग है, तो अपने पार्टनर को जरुर बताएं ताकि आप दोनों में से किसी एक का खतरा कम हो जाए। [ये भी पढ़ें: जानिए क्या है मोलस्कम कन्टेजियोसम]

2- सेक्स के दौरान कैसे खुद को बचाएं:
यह सच है कि टेस्ट हमेशा सही नहीं होता है। इंफेक्शन होने के बाद भी कभी टेस्ट को पॉजिटिव आने में समय लगता है। इसलिए यौन संचारित रोग के लक्षण का पता होना जरुरी है।कुछ लोगों को बिना किसी लक्षण के भी यह रोग हो जाते हैं।

3-सेफ सेक्स के लिए सीमाएं:
कंडोम और अन्य बाधाएं इंफेक्टिड शारीरिक तरल के आदान-प्रदान को रोकने के लिए अच्छा है। यह त्वचा से त्वचा के संपर्क को कम करने में मदद करता है। यह पूरी तरह से रोग की रोकथाम नहीं करता है।

4- कंडोम का सही तरीके से प्रयोग करें:
जब आप सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करें तो उसके इंस्ट्रक्शन ढंग से जरुर पढ़ लें।

  1. अंतिम तारीख चेक कर लें।
  2. ध्यान रहे कंडोम के पैकेट का एक हवा का गुब्बारा हो। जिससे यह पता चलता है कि इसे निकाला नहीं गया हो।
  3. सही तरीके से कंडोम लगाएं।
  4. कंडोम को सही तरीके से नष्ट कर दें।
  5. एक बार यूज किए हुए कंडोम का दोबारा प्रयोग ना करें। [ये भी पढ़ें: ये टेस्ट बताते हैं कि आप एचआईवी पॉजिटिव हैं या नहीं]

यौन संचारित रोग बहुत ही आम हैं। इसे कम करने के बहुत से तरीके हैं। अगर आपको सही तरीका नहीं पता है तो अपने डॉक्टर से सलाह जरुर लें। इससे यौन संचारित रोग के खतरे को कम करने में मदद मिलेगी।

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "