जेनाइटल वार्ट्स के बारे में आपको होनी चाहिए यह जानकारियां

causes and treatments of genital warts

Photo Credit: medscape.com

जेनाइटल वार्ट्स सबसे आम यौन संचारित संक्रमण(एसटीआई) है। यह ह्यूमन पैपिलोमा वायरस (एचपीवी) के कारण होता है जो यौन संबंध बनाने से फैलता है। हर वायरस जेनाइटल वार्ट्स विकसित नहीं करता है। एचपीवी से संक्रमित अधिकांश लोगों को इसका पता नहीं चलता क्योंकि उन्हें मस्से या दाने होने का भी पता नहीं चल पता है। जेनाइटल वार्ट्स का कोई इलाज नहीं होता है ज्यादातर मामलों में यह अपने आप ठीक हो जाता है या फिर इसे दबाने का कोई तरीका खोजना पड़ता है। हर साल लगभग 3,60,000 लोग जेनाइटल वर्ट्स से पीड़ित होते हैं।

जेनाइटल वार्ट्स होने का क्या कारण है?
causes and treatments of genital wartsजेनाइटल वार्ट्स अधिकांश मामलों में एचपीवी के कारण होता है। एचपीवी 70 से अधिक प्रकार के होते हैं जो विशेष रूप से जेनाइटल को प्रभावित करते हैं। एचपीवी वायरस त्वचा से त्वचा के संपर्क के माध्यम से अत्यधिक फैल सकता है। यही वजह कि इसे एक एसटीआई माना जाता है। असुरक्षित ओरल या ऐनल सेक्स करने से आपको जेनाइटल वार्ट्स हो सकता है। साथ-साथ नहाने से, एक ही तौलिएं को इस्तेमाल करने से, स्वीमिंग पूल में तैरने से या टॉयलेट सीट का प्रयोग करने से जेनाइटल वार्ट्स नहीं होता है। [ये भी पढ़ें: जानें किन कारणों से होता है हेपेटाइटिस-ए और कैसे करें उनका उपचार] 

जेनाइटल वार्ट्स कैसे फैलता है:

  • असुरक्षित यौन संबंध बनाने से।
  • अलग-अलग कई लोगों के साथ असुरक्षित यौन संबंध होने से।
  • जेनाइटल वार्ट्स पीड़ित इंसान के साथ यौन संबंध बनाने से।
  • मुंह या गले में वार्ट्स के बावजूद ओरल सेक्स करने से भी जेनाइटल वार्ट्स होता है।
  • कम उम्र में यौन संबंध बनाने से।
  • एक ही समय में तनाव और अन्य वायरल संक्रमण (जैसे एचआईवी या हर्पेस ) होने से।

जेनाइटल वार्ट्स जटिलताएं क्या हैं?
एचपीवी गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर का मुख्य कारण होता है। गर्भाशय ग्रीवा या डिसप्लासिया की कोशिकाओं में कैंसर से पहले परिवर्तन हो सकता है। एचपीवी के अन्य प्रकार योनि में कैंसर पैदा कर सकते हैं। जो महिलाओं के बाहरी अंगों पर होता है या फिर शिश्न और गुदा के कैंसर का कारण बन सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान अगर किसी महिला को जेनाइटल वार्ट्स है तो वैसे में उसके बच्चे के गले में भी वार्ट्स होने कि संभावना बढ़ जाती है।

जेनाइटल वार्ट्स कैसे दिखते हैं?

causes and treatments of genital warts
Photo Credit: demandstudios.com
  • रोगी के जेनाइटल हिस्से  के पास के चमड़े का रंग बदल जाता है और सूजन भी हो जाती है।
  • अगर एक साथ कई क्लस्टर दिख रहे हो, तो वे एक फूलगोभी के आकार की तरह दिखने लगता है।
  • कुछ जेनाइटल वार्ट्स तो इतने छोटे होते हैं कि वह बस योनि या गर्भाशय ग्रीवा के पास दिखता है।

जेनाइटल वार्ट्स की ट्रीटमेंट कैसे करें?
causes and treatments of genital warts1. दवाओं के द्वारा:
इसमें हर सप्ताह एक क्रीम या तरल पदार्थ को वार्ट्स के ऊपर लगाया जाता है। इसे या तो घर पर किया जा सकता है या फिर डॉक्टर कि क्लीनिक में। इस उपचार को कई हफ्तों तक लगातार किया जाता है। [ये भी पढ़ें: इन आसान घरेलू उपायों से दूर करें जेनाइटल वार्ट्स को] 

2.रसायनों के द्वारा (Cryotherapy):
ठंड के कारण वार्ट्स के आसपास छाला बन जाता है। यह त्वचा को भर देता है और घाव को बंद कर देता है। इस उपचार को बार-बार दोहराया जाता है।

3.सर्जरी द्वारा (Surgery):
सर्जरी के द्वारा जेनाइटल वार्ट्स को काटकर शरीर से अलग कर दिया जाता है।

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "