लाभकारी योगासन जो आपके लिबिडो को बढ़ाने में हैं सहायक

Best Superfoods Which Every Man Should Eat

योग आपको आपके जीवन में भावनात्मक, शारीरिक, और मानसिक तौर पर संतुलन बनाएं रखने में मदद करता है। योग ना केवल हमें हर एक पल को गले लगाना सिखाता है बल्कि योग हमें अपने और अपने साथी से आध्यात्मिक और शारीरिक रूप से बेहतर ढंग से जुड़ने में मदद करता है। योग हमारे शरीर के स्वास्थ्य को बेहतर करता है, तनाव के स्तर को कम कर देता है, और ऊर्जा को बढ़ाता है लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि योग आपकी कामेच्छा और यौन जीवन को भी बेहतर कर सकता है। [ये भी पढ़ें: किन खाद्य पदार्थों के कारण प्रभावित हो सकती है आपकी सेक्स लाइफ]

योगासन क्यों हैं फायदेमंद:

  • योग आपके शरीर में लचीलापन बढ़ाने में मदद करता है।
  • योग एक स्वस्थ शरीर और आत्मसम्मान बनाएं रखने में मदद करता है।
  • योग कामेच्छा बढ़ाने में मदद करता है।
  • योग के कारण शरीर के अंगों में रक्त संचार बना रहता है।
  • योग आपके मूड को बेहतर करता है जिससे यौन इच्छा बनी रहती है।
  • योग आपको वर्तमान में जागरूकता सीखने और सराहना करने में मदद करता है।

कौन से योगासन करें: कई शानदार योग आसन है जो हमारे पेल्विक हिस्से में रक्त संचार को बढ़ाने में मदद करते हैं, जिससे शरीर का ये हिस्सा अच्छे से फंक्शन कर पाता है और आपके यौन जीवन को स्वस्थ रखता है। [ये भी पढ़ें: इन तरीकों से जानें कि आपका पीरियड क्रैम्प सामान्य है या नहीं]

कैट-काऊ पोज़ (मार्जरी आसन):

अपने हाथों और पैरों को जमीन पर और पेट को जमीन की तरफ करते हुए एक मेज की स्थिति में आएं। सांस अंदर लेते हुए अपनी कमर को ऊपर की तरफ ले जाएं। अब सांस छोड़ते हुए कमर को अंदर की तरफ लाएं और सिर को बाहर की ओर निकालें। इस तरीके को पांच बार दोहराएं। यह आसन आपकी केगल मसल्स को मजबूत करता है जिससे ऑर्गाज्म तक पहुंचने में आसानी होती है।

बाउंड एंगल पोज़ (बद्ध कोणासन):

जमीन पर बैठकर अपने पैरों के तलवों को एक साथ मिलाएं। अब दोनों हाथों को पैरों के अंगूठे के पास रखें और अपने सिर को झुकाकर पैरों से मिलाएं। यह इनर थाय को स्ट्रेच करने में मदद करता है। साथ ही हिप्स को खोलता है जिससे मोशन बढ़ता है।

पिज़न पोज़ (कपोतासन):

yoga poses for healthy libido and better sex life
Pic Credit: sublimelyfit.com

अपने एक पैर को चटाई पर सीधा रखें और दूसरे को उसके सामने मोड़ कर थाइ के पास रखें। अब आपने दोनों को हाथों को बांधते हुए सामने जमीन पर रखें और हाथों पर अपने सिर को रखें। इस स्थिति में 10 सांस लेने तक रुके। हिप्स के हिस्से में तनाव को कम करने के लिए यह योग काफी कारगर है।

ईगल पोज़ (गरुड़ासन):

दोनों पैरों को मिलाकर जमीन पर खड़े हो जाएं उल्टा पैर उठाकर सीधे घुटने पर क्रोस करके रखें। अब अपनी उल्टी बाजू को सीधी बाजू पर रखें। दोनों को आपस में लपेट लें। इस दौरान सांस लेते रहें। इस योगासन की मदद से सर्विक्स की तरफ रक्त का संचार बढ़ता है। [ये भी पढ़ें: वेजाइनल इचिंग के क्या कारण हो सकते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "