कैसे उम्र पुरुषों के यौन जीवन को प्रभावित कर सकती है

how ageing can affect men sex life

उम्र बढ़ने के साथ पुरुषों के शरीर में कई बदलाव होते हैं जिनका असर उनके यौन जीवन पर पड़ने लगता है। जैसे-जैसे पुरुषों की उम्र बढ़ती जाती है तो वह कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से ग्रसित होने लगते हैं जिसकी वजह से उन्हें कई समस्याएं होने लगती हैं। शारीरिक, मानसिक और मोनवैज्ञानिक बदलावों के कारण यौन स्वास्थ्य पर असर पड़ने लगता है। इसी तरह से कई कारण होते हैं जो उम्र के साथ पुरुषों के यौन जीवन को प्रभावित कर सकते हैं। तो आइए आपको इन कारणों के बारे में बताते हैं।[ये भी पढ़ें: डायबिटीज से ग्रसित होने पर कैसे करें यौन समस्याओं से रोकथाम]

कार्डियोवॉस्कुलर समस्याएं: जैसे जैसे उम्र बढ़ती जाती है उससे लाइफस्टाइल में बदलाव होने लगते हैं। कई लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है जिसकी वजह से लिंग में संकुचन नहीं हो पाता है। इरेक्शन की समस्या होने लगती है। जिसकी वजह से लिंग में तनाव नहीं रह पाता है। इस तरह की समस्या 40 की उम्र के बाद के पुरुषों में ज्यादा होती है। यौन जीवन में यह समस्या 40 की उम्र से पहले भी हो सकती है अगर कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर में बदलाव होने लगे।

दवाइयां: ब्लड प्रेशर, डायबिटीज जैसी कई बीमारियों की दवाइयां पुरुषों के यौन जीवन को प्रभावित कर सकती हैं। कुछ दवाइयों की वजह से पुरुषों को नपुसंकता और एजैकुलेशन की समस्या भी हो सकती है इसलिए जब भी आपको डॉक्टर इस तरह की दवाइंया प्रिस्क्राइब करे तो उनसे जरुर पूछ लें कि कही ये दवाइयां आपके यौन जीवन को प्रभावित तो नहीं करेंगी। [ये भी पढ़ें: जानिए शुक्राणु शरीर से कितनी देर बाहर जीवित रह सकता है]

स्पर्म और टेस्टोस्टेरोन: 50 की उम्र होने तक पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन कम होता जाता है। इससे आपको यौन संबंध स्थापित करने में समस्या हो सकती है। साथ ही शुक्राणुओं की संख्या भी कम हो जाती है। लेकिन अगर सही एक्सरसाइज और डाइट कंट्रोल करके हार्मोन के लेवल को संतुलित किया जा सकता है।

क्रोनिक पेन: जोड़ो में दर्द, ब्लड सर्कुलेशन सही नहीं होना, डिप्रेशन, हड्डियों के कमजोर होने से शरीर में दर्द होता जिसकी वजह से नींद की समस्या होने लगती हैं। इस वजह से इंटीमेसी कम होने लगती है और आपका यौन जीवन प्रभावित होने लगता है।

डायबिटीज: पुरुषों को डायबिटीज हो जाने से उन्हें यौन संबंधी समस्याएं नहीं होती है लेकिन इससे नपुसंकता हो सकती है। कुछ केस में इसका इलाज किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की रोकथाम के लिए अपनाएं ये तरीकें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "