कुछ जरुरी जांच जो हर पुरुष को करानी चाहिए

Health check up which every man should get

Photo Credit: blog.doctoroz.com

बहुत से पुरूष ऐसे होते हैं जो इस बात का इंतजार करते हैं कि उन्हें कोई समस्या हो फिर वो डॉक्टर से संपर्क करें। लेकिन ऐसा करना गलत होता है। ये उनके स्वास्थ्य के लिए घातक हो सकता है। पुरूषों को इरेक्टाइल डिस्फंक्शन और यौन संबंधों में रूची की कमी हो जाने जैसी समस्या भी हो जाती है। इसलिए पुरूषों को हमेशा अपने शरीर की जांच करवाती रहनी चाहिए, वरना ये उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। आइए जानते हैं पुरूषों को कौन सी जांच करानी जरूरी होती है। [ये भी पढ़ें: डायबिटीज की वजह से होने वाली सेक्स समस्याएं]

यूरिन चेकअप: जब पुरूषों को बाथरूम की समस्या महसूस होने लगे तो उन्हें यूरिन की जांच करानी चाहिए। पेशाब करते वक्त परेशानी होने के पीछे प्रोस्टेट ग्रंथि से जुड़ी समस्या हो सकती है। यदि प्रोस्टेट में सूजन है तो यूरिनेशन कम होता है। हालांकि प्रोस्टेट के बढ़ने या अनियमित यूरिनेशन का मतलब यह नहीं है कि आपको कोई स्वास्थ्य समस्या हो गई है। इस दौरान अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

मुंह की जांच: अगर आपके मुंह में छाले होने लगें और ज्यादा समय तक रहे तो आपको जांच कराने की जरूरत है। आपके मसूड़ों, जीभ, गले या होंठों पर इस प्रकार की कोई भी वृद्धि घातक हो सकती है। यह एचपीवी इंफेक्शन को भी बढ़ावा दे सकता है। तो ऐसे में आपको डेंटिस्ट से चेकअप कराने की जरूरत है। [ये भी पढ़ें: मेडिटेशन कैसे आपके यौन जीवन में बदलाव लाता है]

कमर की जांच: यदि आपको लगता है कि आपकी कमर बड़ी होने लगी है तो आपको जांच करानी चाहिए। यदि आप इसे बढ़ते देखते हैं, तो आपको मधुमेह और हृदय रोग का खतरा हो सकता है। अपनी कमर के आकार को कम करने से हृदय रोग और मधुमेह के खतरे को कम किया जा सकता है। यदि शारीरिक गतिविधि या एक्सरसाइज करने के बावजूद कमर का आकार बढ़ता रहता है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत है।

हेयरलाइन चेक: जब आप अत्यधिक तनाव में होते हैं तो कोर्टिसोल और एंडॉर्फिन नामक हार्मोन व्हाइट ब्लड सेल्स के द्वारा हेयर फॉलिकल्स को डैमेज कर सकते हैं, जिसके कारण बालों का विकास रूक जाता है। ऐसे में आपको डॉक्टर से जांच कराने की जरूरत होती है।

एसटीडी चेक: अगर आपने बिना कोई सुरक्षा के यौन संबंध बनाएं हैं या फिर कोई ड्रग्स आपके शरीर में गया है तो आपको डॉक्टर से जांच कराने की जरूरत होती है, वरना आपको एसटीडी होने की संभावना बढ़ जाती है। [ये भी पढ़ें: जानिए शुक्राणु शरीर से कितनी देर बाहर जीवित रह सकता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "