आदतें जो आपके स्पर्म के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाती हैं

Read in English
daily habits that harm your sperm quality

अक्सर पुरुष अपन स्वास्थ्य के बारे में कम सोचते हैं, खासकर जब उनके यौन स्वास्थ्य की बात हो। पुरुषों के यौन स्वास्थ्य की बात आती है तो इसमें स्टेमिना, टेस्टोस्टेरोन का स्तर और शुक्राणुओं की संख्या जैसे कई चीजें शामिल होती हैं। पुरुषों की स्वस्थ प्रजनन क्षमता के लिए शुक्राणुओं की संख्या और इनका स्वस्थ होना बेहद जरुरी होता है। हालांकि, कई रोज़मर्रा की ऐसे काम हैं जो आप करते हैं और ये काम आपके शुक्राणुओं पर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं जिससे आपके यौन जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इन आदतों के बारे में जानना आपके लिए महत्वपूर्ण है ताकि आप इनसे बच सकें और एक स्वस्थ यौन जीवन का अनुभव करें। आइए जानते हैं कि आपके शुक्राणुओं को नुकसान पहुंचाने वाली ये हर रोज की आदतें क्या हैं। [ये भी पढ़ें: एक्सरसाइज जो टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाने में मदद करती हैं]

लैपटॉप को गोद में रखकर काम करना
अधिकांश लोग इस आदतके शिकार हैं। जब आप काम करते हैं तो अपना लैपटॉप गोद में रख लेते है। इसकी गर्मी आपके शुक्राणुओं को प्रभावित करती है। आपके टेस्टिकल्स को ठंडे रहने की जरुरत होती है। हालांकि, लैपटॉप की गर्मी आपके शुक्राणुओं को गंभीर नुकसान पहुंचाती है। इसलिए इस आदत को छोड़ दें।

कार्बोनेटेड पेय या सोडा का सेवन
जब आप बहुत अधिक सोडा या कार्बोनेटेड पेय का सेवन करते हैं तो अत्यधिक शुगर आपके शरीर में जाती है। इससे इंसुलिन रेसिसटेंस की स्थिति पैदा होती है। इससे आपके शरीर की कोशिकाएं ऊर्जा के लिए ग्लूकोज का उपयोग करने में असमर्थ हो जाती हैं। इस कारण सूजन होने की संभावनाएं होती है और आपके स्पर्म की क्वालिटी को नुकसान होता है। [ये भी पढ़ें: यौन रुप से सक्रिय पुरुषों को अपनी डाइट के बारे में क्या जानना चाहिए]

हॉट शावर
अधिकतर लोगों को हॉट शावर लेना पसंद होता है जिससे उनकी दिनभर की थकान उतर जाती है लेकिन ये शावर आपके स्पर्म के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है क्योंकि हॉट शावर की गर्मी की वजह से टेस्टिकल्स गर्म हो जाते हैं। शुक्राणुओं की रक्षा के लिए टेस्टिकल्स का ठंडा होना जरुरी है।

तनाव
तनाव आपके स्वास्थ्य को हर तरीके से प्रभावित करता है। एक अध्ययन के अनुसार, अत्यधिक तनाव लेने से आपके प्रजनन क्षमता को नुकसान पहुंचता है। इससे इंफ्लेमेटरी प्रोटीन पैदा होते हैं। ये प्रोटीन शुक्राणुओं को नुकसान पहुंचाते हैं।

तंग अंडरवियर
जो लोग नियमित रुप से तंग अंडरवियर पहनते हैं उनके स्पर्म की गुणवत्ता को नुकसान पहुंचता है। तंग अंडरवियर पहनने से आपके टेस्टिकल्स शरीर के संपर्क में आते हैं। शरीर का तापमान टेस्टिकल्स के तापमान से अधिक होता है। इसलिए टेस्टिकल्स का तापमान बढ़ जाता है और शुक्राणु के स्वास्थ्य को हानि पहुँचती है।[ये भी पढ़ें: लिबिडो कम होने पर भी अपने यौन स्वास्थ्य को कैसे बेहतर बनाएं]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "