क्या अपने साथी को अतीत के बारे में बताना चाहिए

Read in English
why you should not share all the past relationship secrets with your partner

कुछ चीजें अनकहीं ही रहे तो बेहतर होता है। हर किसी जिंदगी में एक अतीत होता है जिसका उनकी जिंदगी पर गहरा असर होता है। जब आप किसी रिश्ते में है या शादी करने वाले हैं तो जरुरी है कि आपका समझदार होना जरुरी है। किसी का पति या पत्नी होना किसी भी आम रिश्ते मे होने से बिल्कुल अलग होता है। हर किसी का नजरिया अलग होता है और हर कोई अपने पार्टनर के अतीत के बारे में जानने के बाद अलग तरह से राय बना सकता है। इसलिए किसी को भी अपने अतीत के चलते अपने वर्तमान के रिश्ते को खराब नहीं करना चाहिए। अपने अतीत को अतीत ही रहने दें। जो अब है ही नहीं, उसके लिए अपना आज खराब क्यों करना। इसलिए आपको पता होना चाहिए कि क्यों अपने साथी को अतीत के बारे में नहीं बताना चाहिए। [ये भी पढ़ें: पहली बार मिलने पर महिला को कैसे अपनी ओर आकर्षित करें]

अपने अतीत का सम्मान करें और आगे बढ़ें
चाहे आपका पहला रिश्ता कैसे भी खत्म हुआ हो, लेकिन वह खत्म हो चुका है और इस बात को जितना जल्दी आप समझ लें अपने अतीत और एक्स पार्टनर का सम्मान करें। आखिर आपने उनसे कभी प्यार किया था। इसलिए किसी को दोषी ठहराने की बजाय आगे बढ़ें।

अपने पार्टनर को दुख ना पहुंचाएं
आप सोच रहे होंगे कि आपको नए रिश्ते की शुरुआत सच के साथ करनी चाहिए लेकिन आप इसके साथ ही अपने पार्टनर को दुख पहुंचा रहे हैं। अतीत के बारे में आप जो भी अपने पार्टनर को बताने जा रहे हैं हो सकता है वो आपके पार्टनर को दुख पहुंचाएं। [ये भी पढ़ें: अगर आपका बॉयफ्रेंड रोमांटिक नहीं है तो क्या करें]

आप उनका विश्वास खो सकते हैं
आपका अतीत आपके आज को खराब कर सकता है। इसके कारण आप अपने साथी का विश्वास खो सकते हैं। इसलिए अतीत के बारे में अपने साथी से अधिक बातें ना करें।

इससे केवल आपको दुख मिलेगा
अगर आप सोच रहे हैं कि अतीत के बारे में अपने पार्टनर को बता देने से सब कुछ ठीक हो जाएगा तो ऐसा नहीं होगा। बल्कि ऐसा करने से आपको केवल दुख ही मिलेगा। ऐसा करने से आप अपने आज की खुशियां भी खो देंगे। इसलिए अपने आज को सेलिब्रेट करें।

आज के रिश्ते पर बुरा प्रभाव
अगर आप अपने अतीत के राज़ खोलते हैं तो ऐसी संभावनाएं अधिक होती है इससे आपका आज का रिश्ता प्रभावित हो। भरोसा टूट जाना और रिश्ते को बनाएं रखने का प्रयास ना करना आदि समस्याएं आपके रिश्ते को बिखेर सकती हैं। [ये भी पढ़ें: रिश्ते में असुरक्षा की भावना को कैसे कम करें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "