Relationship Tips: रिलेशनशिप में ज्यादा सोचना नुकसानदायक क्यों होता है

Read in English

Overthinking: ज्यादा सोचना आपके रिश्ते को नुकसान पहुंचा सकता है।

जब आप किसी रिलेशनशिप में होते हैं तो आप अपने पार्टनर के लिए कमिटिड रहते हैं। आप उनका ध्यान रखते हैं उनके लिए हर चीज करने की कोशिश करते हैं। लेकिन कई बार यह सभी चीजें आपके रिश्ते में दरार ले आती हैं। रिलेशनशिप के बारे में ज्यादा सोचने की वजह से आपका रिश्ता टूट भी सकता है। सोचने और ज्यादा सोचने के बीच एक छोटी सी लाइन होती है जिसे कई बार लोग पार कर जाते हैं जिसकी वजह से रिश्ता टूटने की कगार पर आ जाता है। कुछ लोग अपने रिश्ते में होने वाली चीजों के बारे में इतना ज्यादा सोचते हैं कि कुछ अच्छा हो ही नहीं पाता है।इतना ज्यादा सोचना भी आपके रिश्ते को नुकसान पहुंचा सकता है। तो आइए आपको बताते हैं कि रिलेशनशिप में ज्यादा सोचना क्यों हानिकारक होता है। [ये भी पढ़ें:  Long lasting relationships: कौन से रिलेशनशिप लंबे समय तक चलते हैं]

Relationship Tips: रिलेशनशिप में ज्यादा क्यों नहीं सोचना चाहिए

असुरक्षा की भावना
आज में नहीं जीना
लड़ाई होना
उदास रहना
तुलना करना

असुरक्षा की भावना: जब आप अपने रिश्ते के बारे में ज्यादा सोचने लगते हैं तो आप रिश्ते में होने वाली हर चीज को लेकर सवाल उठाने लगते हैं। जिसकी वजह से रिश्ते में असुरक्षा की भावना पैदा होने लगती है जो आपके रिश्ते के लिए ठीक नहीं होती है।

आज में नहीं जीना: रिश्ते में कुछ भी होने के बारे में पहले से नहीं सोचा जा सकता है। अगर आप हमेशा यह सोचते रहते हैं कि भविष्य में रिलेशनशिप में क्या होगा तो आप आज को जीना भूल जाते हैं और भविष्य के बारे में ही सोचते रहते हैं।

लड़ाई होना:

overthinking is bad for a relationship
Relationship tips: ज्यादा सोचने की वजह से लड़ाई होने लगती है।

ज्यादा सोचने की वजह से आप आलोचना करने लगते हैं। आप अपने पार्टनर के हर एक निर्णय पर सवाल करने लगते हैं। ऐसा ज्यादा सोचने की वजह से होता है। आपकी इन हरकतों की वजह से आपका पार्टनर परेशान हो जाता है और आपके बीच लड़ाई होने लगती है।

उदास रहना: जब आप हमेशा रिलेशनशिप के बारे में सोचते रहते हैं तो बिना किसी कारण के भी आप उदास रहने लगते हैं। आपको ऐसा लगता है कि आप किसी सही इंसान के साथ रिलेशनशिप में नहीं हैं।

तुलना करना: जब आप रिलेशनशिप के बारे में ज्यादा सोचने लगते हैं तभी से आप दूसरों से खुद के रिश्ते की तुलना करने लगते हैं जो आपके रिश्ते के लिए हानिकारक होता है।

[जरुर पढ़ें: Normal Relationship: एक सामान्य रिलेशनशिप कैसी होनी चाहिए]

ज्यादा सोचना आपके रिश्ते के लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए ऐसा करने से बचना चाहिए। इस आर्टिकल को इंग्लिश(English) में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "