व्यस्त कपल्स अपने रिलेशनशिप को कैसे बेहतर बना सकते हैंं

Tips To Making A Relationship Work For Busy Couples

आजकल हर किसी की पहचान उसके काम से मानी जाती है और हर कोई अपने सपनों को जीना चाहता है, अपनी एक नई पहचान बनाना चाहता है। जीवन में आप अपनी पहचान बनाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं जो अक्सर रिलेशनशिप के बाद भी आप खोना नहीं चाहते। आपका साथी अगर आपको रिलेशनशिप में होकर भी अपने सपने पूरी करने में मदद करता है तो यह रिश्ते की मजबूती के लिए सबसे सकारात्मक संकेत होता है। आप और आपका साथी दोनों काम में व्यस्त रहते हैं ऐसे में आपको कई बार ऐसी परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है जब आपको एक-दूसरे की जरुरत होती है लेकिन आपके पास समय का अभाव होता है। ऐसे में व्यस्त कपल्स को कई चीजों का ख्याल रखना पड़ता है। आइए जानते हैं कि एक व्यस्त कपल होने के नाते आपको किन चीजों का ख्याल रखना चाहिए। [ये भी पढ़ें: कमिटेड पुरुषों को क्या नहीं करना चाहिए]

1.मिलने का समय तय करें और उसे कैंसल ना करें: आप दोनों व्यस्त रहते हैं ऐसे में एक ऐसा दिन तय करें जब आप दोनों आराम से एक-दूसरे से मिल सकें। उस दिन चाहें जो भी डेट हो कैंसल ना करें क्योंकि ऐसा करने से उनका वक्त बर्बाद होने के साथ-साथ मूड भी खराब हो जाता है।

2. उनका फोन जरुर उठाएं: काम में व्यस्त होने के कारण हो सकता है कि आप उनके मैसेज का सही समय पर रिप्लाई ना कर पाएं। ऐसे में जब भी वे फोन करें, उनका फोन जरुर उठाएं जिससे आपको व्यस्तता में भी उनसे बात करने का मौका मिल जाता है और यह चीज आपको भी रिलैक्स महसूस करवाती है। [ये भी पढ़ें: उस लड़की को कैसे अपना बनाएं जिसे पाना मुश्किल ]

3.रोजाना थोड़ी देर बात जरुर करें: हो सकता है कि आप दोनों का शिफ्ट टाइम या काम अलग-अलग हो लेकिन रिश्ते में एक-दूसरे को समय देना भी काफी जरुरी होता है। ऐसे में थोड़ा समय लेकर दोनों आपस में बात करें और दिनभर की बातों को साझा करें।

4. एक्टीविटी पार्टनर बनें: आप दोनों एक-दूसरे से मिलने के लिए समान रुचि के साझेदार बन सकते हैं। यानि वर्कआउट से लेकर म्यूजिक क्लास तक आप एक-दूसरे के पार्टनर बन सकते हैं जिससे आपको एक साथ समय बताने के ज्यादा मौके मिलते हैं।

5.समझौता करने में हिचकिचाए नहीं: प्यार में एक-दूसरे के लिए अगर आप कोई समझौता करना भी पड़े तो इसमें हिचकिचाए नहीं। अगर आपको उनके हिसाब से अपना काम मैनेज करना पड़ता है तो ऐसे में यह ना सोचें कि आप ही क्यों समझौता करें? इस बात के सकारात्मक पहलू के बारे में सोचें कि ऐसा करने से आपको कम से कम एक-दूसरे के साथ ज्यादा वक्त मिल रहा है। [ये भी पढ़ें: सच्चे प्यार और लगाव में क्या फर्क होता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "