अपने पति से झगड़ा करने से कैसे बचें

Read in English
tips-avoid-fight-with-your-husband

पति-पत्नि का रिश्ता जीवनभर के लिए होता है। जीवन के हर उतार-चढ़ाव वो एक साथ देखते हैं और उनका एक साथ सामना करते हैं। लेकिन कभी कभी स्थितियां आपको नियंत्रण में नहीं होती। बहुत बार परिस्थितियां ऐसी हो जाती है कि प्यार भरे रिश्ते में भी लड़ाई-झगड़े की नौबत आ जाती है। रिश्ते में प्यार बनाएं रखने के लिए कभी-कभार लड़ना भी जरुरी होता है लेकिन अगर आपके और आपके पति के बीच अक्सर झगड़े होते रहते हैं तो यह आपके रिश्ते के लिए हानिकारक हो सकता है। हर किसी की मानसिकता अलग-अलग होती है और रोजाना का झगड़ा जीवन में तनाव को बढ़ा देता है। इसलिए अगर आप अपने पति के साथ अपने रिश्ते को बेहतर बना कर रखना चाहती है तो झगड़े से बचने के लिए ये टिप्स अपना सकती हैं।[ये भी पढ़ें: अपने पार्टनर को सेक्सुअल रुप से कैसे खुश करें]

1. उनकी स्थिति समझें: ऑफिस के तनाव के कारण हो सकता हैं कि आपके पति परेशान हो। हो सकता है कि वे कभी भी अपने तनाव को आपके साथ साझा ना करते हो लेकिन अकेले तनाव से लड़ते हुए वे छोटी-छोटी बातों पर भी गुस्सा करके आपसे झगड़ा कर लेते हैं। इसलिए उनकी स्थिति समझें और अगर वे गुस्सा हो भी तो भी आप स्थिति को समझकर शांत रहने का प्रयास करे।

2. पहले सुनें और बाद में जवाब दें: अगर आप दोनों के बीच कोई तर्क-वितर्क हो रहा है तो तुरंत जवाब देने की बजाय शांत रह कर सारी बातें सुनें और उसके बाद शांत होने पर समझदारी से उनकी सारी बातों का जवाब दें। ऐसा करने पर आप व्यर्थ तर्क और झगड़े से बच सकती है। [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते है कि आपका पार्टनर रिलेशनशिप में दिलचस्पी नहीं ले रहा है]

3. दूरी बना कर रखें: बहुत बार हम अपने साथी के मूड के बारे में जाने बिना ऐसी कोई बात शुरु कर देते हैं जो कि अकारण एक-झगड़े का रुप धारण कर लेती हैं। अगर आपकी किसी बात के कारण आपको लगता है कि झगड़ा होने वाला है तो उस बात को तुरंत खत्म करने की कोशिश करें ना कि उसे जारी रखकर लड़ाई को और बढ़ावा दें।

4. किसी तीसरे व्यक्ति को दखलअंदाजी ना करने दें: किसी भी तीसरे व्यक्ति को अपनी लड़ाई सुलझाने के लिए बीच में लाना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इससे आपके पति को अपमान महसूस हो सकता है जो आपके बीच लड़ाई को और बढ़ा देगा। इसलिए किसी भी तीसरे व्यक्ति को आप दोनों के बीच दखलअंदाजी ना करने दें।

5. उलझनें सुलझाने का प्रयास करें: उन्हें शांति से अपने साथ बैठाएं और समझने की कोशिश करें कि वह क्या कहना चाहते हैं और साथ ही उन्हें अपनी बात समझाएं। अपने बीच के ये छोटे-छोटे झगड़े सुलझाने का प्रयास करें ताकि आपकी यह पहल आपके रिश्ते को बचा सके।

6. जो भी चीज आवश्यक हो उसे पहचानें: बहुत बार चीजों को नजरअंदाज करना भी सही होता है। किसी भी छोटी बात को लेकर लड़ने की बजाय यह जानने की कोशिश करें कि क्या-क्या चीजें आपके जीवन में आवश्यक हैं। बेकार की चीजों पर लड़ने की बजाय जरुरी चीजों पर ध्यान दें और अपने रिश्ते को बेहतर बनाएं। [ये भी पढ़ें: रिलेशनशिप में हेल्दी आरग्यूमेंट कैसे करें]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "