दुर्व्यवहार सहने के बाद भी महिलाएं किसी रिश्ते को क्यों झेलती हैं

reasons why women stay in an abusive relationship

Pic Credit: thetimes.co.uk

कोई भी दुर्व्यवहारपूर्ण रिश्ते से बहुत ही टॉक्सिक होती है। कोई इस रिश्ते में फंस जाता है तो बाहर निकल पाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। दुर्व्यवहार करने वाले पार्टनर का बरताव हर दिन अलग होता है और दुर्व्यवहार झेल रही महिला को लगता है कि उसका साथी शायद सुधर रहा है। इस आस में कि उनका पार्टनर बदल सकता है और शायद वह आगे से उनके साथ अच्छा बरताव करेगा, वह रिश्ते में बनी रहती हैं। इसके अलावा कई कारण हैं जिनकी वजह से कोई महिला एक रिश्ते में दुर्व्यवहार सहने के बाद भी रिश्ता तोड़ नहीं पाती हैं। [ये भी पढ़ें: वैवाहिक जीवन को सफल बनाने के लिए करें ये उपाय]

उन्हें लगता है कि वो फंस गई हैं: बहुत सी महिलाओं को लगता है कि वो इस रिश्ते से बाहर नहीं निकल सकती हैं और वो फंस गई हैं। ऐसा कई बार इसलिए भी होता है क्योंकि उनका पार्नट उन्हें धमकी देता है कि अगर वो छोड़कर गईं तो वह आत्महत्या कर लेगा, खुद को नुकसान पहुंचाएगा या कोई और उन्हें प्यार नहीं करेगा।

वो भरोसा करती हैं कि उनका पार्टनर अभी भी उन्हें प्यार करता है: उनका यकीन इस बात पर बना रहता है कि जो व्यक्ति उनके साथ दुर्व्यवहार करता है आखिर वह उनका पति या पार्टनर है। वो भरोसा बनाएं रखती हैं कि वह अभी भी उनसे प्यार करता है या उनके पार्टनर का प्यार जताने का तरीका है। [ये भी पढ़ें: अरेंज मैरेज में प्यार को बनाएं रखने का मूल मंत्र]

उन्हें अपनी जिंदगी का डर रहता है: दुर्व्यवहार कोई मजाक नहीं है। इसके कारण अक्सर महिलाएं इस डर में उसी रिश्ते को झेल रही होती कि अगर वो छोड़कर गईं तो उनका पार्टनर पार्टनर हिंसक हो सकता है और उनकी जान को खतरा बन सकता है। किसी भी ऐसे रिश्ते में, जिसमें पुरुष पार्टनर महिला का अपमान और दुर्व्यवहार करता है, उसमें बिना किसी प्रतिक्रिया झेलें उस रिश्ते से बाहर आना मुश्किल होता है।

पूरी तरह पार्टनर पर निर्भर होना: जो महिलाएं पूरी तरह पार्टनर पर निर्भर होती उनके लिए इस तरह के रिलेशन से बाहर निकलना मुश्किल होता है। जो व्यक्ति अपनी महिला साथी के साथ दुर्व्यवहार करता हैं वो उन्हें मैन्युपुलेट और ब्लैकमेल करता है कि उन्हें जीवनयापन में परेशानी होगी। दुर्व्यवहारपूर्ण रिश्ते से पीड़ित महिलाएं जीवनयापन का कोई मजबूत आधार, नौकरी या आत्मनिर्भर ना होने के कारण भी मजबूर होकर रिश्ते में बने रहते हैं। [ये भी पढ़ें: जरुरत से ज्यादा प्यार भी होता है आपके रिश्ते के लिए हानिकारक]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "