जब आप प्यार में होते हैं तो दिमाग कैसे प्रतिक्रिया देता है

Read in English
how your brain react when you fall in love

हमारी रुचि और मूड को नियंत्रित करने में हमारा दिमाग बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हम अक्सर सोचते हैं कि हम किसी से प्यार इसलिए करते हैं क्योंकि हमारा दिल उस व्यक्ति के साथ कनेक्ट करता है हालांकि ऐसा नहीं है। हम किसी को इसलिए पसंद करते हैं क्योंकि हमारा दिमाग इसके लिए हमें सिग्नल देता है। हमारा मस्तिष्क हमारी इंद्रियों को नियंत्रित करता है और इसके परिणामस्वरूप, हमारी इंद्रियां हमें संदेश देती हैं। अगर सभी चीजें हमारे दिमाग के अनुसार काम करती हैं तो हम उस इंसान को पसंद करने लगते हैं और अगर ऐसा नहीं होता तो हम आगे बढ़ जाते हैं। हमारे दिमाग में कई तरह के केमिकल रिएक्शन होते हैं जो किसी व्यक्ति को प्यार करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। आइए जानते हैं जब आप प्यार में होते हैं तो दिमाग कैसे प्रतिक्रिया देता है। [ये भी पढ़ें: डेट के फेल हो जाने के बाद क्या ना करें]

आकर्षण और प्यार
यह सच है कि हम किसी की ओर बहुत जल्द आकर्षित हो जाते हैं। हमारे दिमाग में एंडोर्फिन, डोपामाइन, ऑक्सीटोसिन जैसे कई केमिकल होते हैं, जो हमें किसी को पसंद करने में मदद करते हैं। हम इस दौरान ज्यादा सोचते नहीं हैं और व्यक्ति की ओर आकर्षित हो जाते हैं। हालांकि, आपको इस दौरान आपको कोई भी फैसला लेने में सावधान रहने की जरुरत होती है।

गलत इंसान से प्यार करना
ऐसा अक्सर होता है कि हम गलत इंसान से प्यार कर बैठते हैं। यह स्वाभाविक है। जब आप पहले से ही जानते हैं कि वह व्यक्ति आपके लिए सही नहीं है और इस प्यार से आपको कुछ नहीं मिलेगा तो आपको इस स्थिति में खुद को रोक लेना बेहतर होता है। इसलिएआगे बढ़ने की बजाय अपने कदम पीछे लें। [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आप लिव-इन रिलेशन के लिए तैयार नहीं है]

रिश्ते में प्यार और आकर्षण की कमी
आपने बहुत से लोगों को परेशान होते देखा होगा कि उनके रिश्ते में पहले जैसा आकर्षण नहीं रहा। हालांकि ऐसा नहीं है। यह केवल आपके विचारों में होता है। हर कोई व्यक्ति अपने जीवन में चिंता, तनाव, दबाव, उम्मीदों और जिम्मेदारियों का सामना करता है। इसलिए आपको अपने दिमाग को इसके लिए तैयार करना होता है और आपकी जिंदगी में प्यार वापस आ जाता है।

अतीत को भूल ना पाना
हम में से बहुत से लोग किसी एक इंसान से इतना जुड़ जाते हैं कि हमारे लिए उन्हें भूल पाना मुश्किल होता है। वह इंसान अगर आपको छोड़ कर भी चला जाता है तब भी प अपने अतीत से नहीं निकल पाते हैं। ऐसे में आप अपने दिमाग पर काबू खोने लगते हैं। बेहतर है कि आप उस व्यक्ति से खुद को दूर रखें। उन्हें मैसेज या कॉल करना बंद कर दें। [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आपकी साथी आपके प्रयासों की कदर नहीं करती हैं]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "