कैसे पहचानें कि ये प्यार है या केवल शारीरिक आकर्षण

how to know if it is love or lust

Photo Credit: www.youngisthan.in

रिलेशनशिप में हम अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए शब्दों का उपयोग अधिक करते हैं। लेकिन शब्दों पर क्या पूरी तरह से भरोसा किया जा सकता है। हालांकि हमारा शरीर झूठ नहीं बोलता। जब हम किसी के सामने होते हैं तो हम कुछ बॉडी लैंगवेज का इस्तेमाल करते हैं। बॉडी लैंगवेज किसी भी इंसान के वास्तविक इरादों को दर्शाती है। बहुत बार शब्दों से आकर्षित होकर आप समझ बैठते हैं कि जिस रिश्ते में आप है उसकी नींव प्यार है लेकिन कुछ समय बाद आपको पता चलता है कि उसमें प्यार नहीं केवल शारीरिक आकर्षण है। हालांकि आप अपने रिश्ते को परख कर फर्क जान सकती हैं कि ये प्यार हैं या केवल शारीरिक आकर्षण। [ये भी पढ़े: संकेत जो बताते हैं कि आपका साथी आपसे झूठ बोल रहा है]

क्या आपका पार्टनर केवल शारीरिक सम्बंधो को महत्व देता है: एक स्वस्थ रिश्ते में शारीरिक सम्बंधो का होना जरुरी है। अगर आप में से कोई एक केवल और केवल सेक्स के बारे में ही सोचता है और शारीरिक सम्बंधो को ही महत्व देता हो तो आपको वास्तव में सोचने की ज़रूरत है कि क्या ये प्यार है। प्यार का अर्थ होता है विश्वास, प्रतिबद्धता और संचार लेकिन यदि आपका साथी हर वक्त ये सोचता हैं कि ‘हम अभी क्यों सेक्स नहीं कर रहे हैं?’ तो आपको एक कदम पीछे ले लेना चाहिए और उस रिश्ते को आगे बढ़ाने से पहले एक बार फिर सोचें। किसी भी रिश्ते में कमिटमेंट तभी करें जब यह केवल प्रेम के आधार पर बना हो।

अगर आपके रिश्ते में प्यार फीका पड़ने लगे: हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि जब आप किसी प्रेम सम्बंध में हैं तो उससे प्यार कभी फीका नहीं होता और अगर ये सिर्फ शारीरिक आकर्षण है तो आप एक-दूसरे से बहुत जल्दी ऊब जाते हैं। अगर आपके रिश्ते में फिजिकल इंटिमेसी की बजाय इमोशनल इंटिमेसी ज्यादा है तो आपके रिश्ते का आधार वास्तव में प्यार है। लेकिन अगर कुछ समय बाद आपके रिश्ते में प्यार फीका हो जाएं तो समझ लें कि ये रिश्ता केवल शारीरिक आकर्षण के लिए बनाया गया था। [ये भी पढ़े: इन टिप्स को अपनाकर अरेंज मैरिज में लाएं प्यार की भावना]

बाहरी सुंदरता: कभी-कभी आप किसी इंसान को उसकी बाहरी सुंदरता के लिए पसंद करते हैं। अगर आपके लिए किसी इंसान की केवल बाहरी सुंदरता मायने रखती हैं तो ध्यान रखें कि आप उस इंसान से प्यार नहीं करते हैं। कुछ समय बाद आपको एहसास होगा कि आपने कभी उस इंसान स प्यार किया ही नहीं था। बल्कि आपका प्यार उसकी बाहरी और शारीरिक सुंदरता के लिए था।

आप रिश्ते के वास्तविक पहलुओं पर ध्यान देते हैं: किसी भी व्यक्ति के लिए रिश्ता निभाना आसान नहीं होता। हर एक रिश्ते में बुरा वक्त आता ही है। लेकिन आप इससे कैसे सुलझाते हैं वह आपके रिश्ते को और मजबूत बनाता है। जब आप सच्चे रिश्ते में होते हैं और एक-दूसरे से प्यार करते हैं तो आप रिश्ते के वास्तविक पहलुओं के बारे में सोचते हैं। साथ ही यह सोचते हैं कि आपके रिश्ते को कैसे बेहतर बनाया जा सकता है। लेकिन जब आप केवल शारीरिक आकर्षण के लिए इस रिश्ते में होते हैं तो रिश्ते के बारे में नहीं बल्कि अपने स्वार्थ के बारे में सोचते हैं। अगर आपको लगता है कि आपका साथी ऐसा सोचता है तो उस रिश्ते में अपने समय और प्रयास ना निवेश करें। [ये भी पढ़े: टिप्स जिनकी मदद से आप करियर और प्यार के बीच संतुलन बना पाएंगे]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "