कैसे पड़ती है धोखा देने की आदत और उसके दुष्परिणाम

cheating-becomes-habit-side-effects

कहते हैं कि नकल करने और धोखा देने से हमेशा बचना चाहिए क्योंकि एक बार अगर आप अपने साथी को धोखा देने में सफल हो जाते हैं तो आपको बार-बार धोखा देने की आदत हो जाती है। बहुत से लोग इस बात को स्वीकार नहीं करते लेकिन ऐसा संभव है। अगर आप अपने साथी को धोखा देते हैं तो इससा ना केवल आपका रिलेशन खराब होता है बल्कि आपकी छवि भी खराब होती है। आइए जानते हैं कि कैसे एक बार अपने साथी को धोखा देने वाले लोगों को बार-बार धोखा देने की आदत हो जाती है और इसके क्या दुष्परिणाम हो सकते हैं। [ये भी पढ़ें: कैसे लोगों के सामने प्यार का इजहार आपके रिश्ते को मजबूत बना सकता है]

1. साहस बढ़ जाना: माना जाता है कि रिलेशनशिप में एक बार अपने साथी से अगर आप झूठ बोलते हैं उन्हें धोखा देकर ऐसा कोई काम करता है जो उसके साथी को नापसंद हो तो पकड़े ना जाने पर आपकी हिम्मत बढ़ जाती है और आप बार-बार धोखा देने लगते हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि एक बार धोखा देने के बाद फिर से धोखा देने की संभावना 300 प्रतिशत बढ़ जाती है।

2. धोखा देने वाले हमेशा संदेह करते हैं: जो लोग अपने साथी को धोखा देते हैं उन्हें हमेशा ये डर लगा रहता है कि उनके साथ भी धोखा हो सकता है। इसलिए वे हमेशा अपने रिलेशनशिप पार्टनर पर संदेह करते हैं, जिससे उन लोगों में लगातार लड़ाई होती है और वे कभी प्यार भरे रिश्ते का आनंद नहीं ले सकते।

3. धोखा देने की मानसिकता बनना: जो लोग एक बार धोखा देते हैं बार-बार धोखा देना उनकी मानसिकता बन जाती है। वे चाह कर भी अपनी इस आदत पर काबू नहीं रख पाते और इसी कारण उनका व्यवहार भी नकारात्मक हो जाता है। [ये भी पढ़ें: क्या करें जब आपका एक्स आपको अपनी जिंदगी में वापस लाना चाहता हो]

4. ब्रेन कैमेस्ट्री: जो लोग एक बार धोखा देते हैं उनकी ब्रेन कैमेस्ट्री में भी परिवर्तन हो जाता है। उन्हें धोखा देना एक आनंदमय काम लगने लगता है और उन्हें ऐसा करने में मजा आने लगता है। ये उनके लिए रोमांच का जरिया बन जाता है।

धोखा देने के दुष्प्रभाव: जब आप किसी के साथ कुछ ऐसा करते हैं जो सही नहीं होता तो आपके मन में एक अपराध बोध होने लगता है। यह उन लोगों के साथ भी होता है जो रिलेशनशिप में अपने पार्टनर को धोखा देते हैं। अगर आप अपने साथी के विश्वास करने पर भी उसे धोखा देते हैं उन्हें कभी ना कभी अपराध बोध जरुर होता है। इस कारण वो लोग तनाव का शिकार हो सकते हैं। [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आपका प्यार स्वार्थरहित हैं] 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "