क्या हैं मिनी पिल्स और गर्भनिरोध में कैसे हैं प्रभावी

Mini Pills: Benefits, Side Effects, Effectiveness and How it Works

प्रोजेस्टोन-ओनली पिल्स या प्रोजेस्टिन-ओनली पिल्स मौखिक तौर पर सेवन की जाने वाली गर्भनिरोधक गोलियां होती है जिन्हें मिनी पिल्स भी कहते हैं। बाकी गर्भनिरोधक गोलियों की तरह मिनी पिल्स में प्रोजेस्टिन या प्रोजेस्टोजन नामक एक ही हार्मोन होता है और इसलिए इसका दुष्प्रभाव कम होता है। 35 से अधिक उम्र की महिलाएं नियमित रूप से गर्भनिरोधक गोलियां नहीं ले सकती हैं इसलिए वे मिनी पिल्स का उपयोग कर सकती है। ये गर्भनिरोधक गोलियां 28 दिनों के अंतराल में ली जा सकती है। [ये भी पढ़ें: सर्विकल कैप के इस्तेमाल से पहले जाने कुछ ज़रूरी बातें]

मिनी पिल्स कैसे काम करता है:  अन्य सभी गर्भनिरोधक गोलियों की तरह मिनी पिल्स भी आपके अंडाशय में अंडा बनने से रोकता है। यह गर्भाशय के आकार को बदलता है जिससे कि यह निषेचित अंडे के आरोपण के लिए प्रतिकूल हो जाता है। इसके उपयोग के बाद, आपके गर्भाशय और आपकी योनि के बीच का म्यूकस मोटा हो जाता है। यह शुक्राणुओं को अंडे तक नहीं पहुंचने से रोकता है।

मिनी पिल्स का प्रभाव: मिनी पिल्स मौखिक तौर पर सेवन की जाने वाली गर्भनिरोधक गोलियों की तरह होता है। प्रोजेस्टिन-ओनली पिल्स लगभग 28 दिनों तक लेनी चाहिए। मासिक धर्म के दौरान भी इसका सेवन करना बंद नहीं करना चाहिए वरना गर्भवती होने की संभावना बढ़ जाएगी। [ये भी पढ़ें: गर्भधारण को रोकने के अलावा और भी काम करती हैं गर्भनिरोधक दवाइयां]

मिनी पिल्स के लाभ:

  • प्रोजेस्टोजन-ओनली पिल्स में एस्ट्रोजन नहीं होते हैं, इसलिए यह दिल के दौरे के खतरे को कम करता है
  • मिनी पिल्स का उपयोग पेल्विक इंफ्लेमेट्री डीजिज होने की संभावना को कम करता है।
  • मिनी पिल्स लेने वाली महिलाओं को एनीमिया होने की संभावना कम होती है।
  • मिनी पिल्स लेने वाली महिलाओं को अन्य गर्भनिरोधक की गोलियां लेने वाली महिलाओं के मुकाबले मासिक धर्म के दौरान कम ऐंठन और दर्द होता है।
  • मिनी पिल्स फर्टिलिटी को प्रभावित नहीं करता है।

मिनी पिल्स के दुष्प्रभाव:

  • प्रोजेस्टोजन-ओनली पिल्स का उपयोग स्तन को ढीला करता है और व्यवहार में बदलाव लाता है।
  • मिनी पिल्स का सेवन करने से भूख अधिक लगने लगती है जिसकी वजह से वजन बढ़ जाता है।
  • कुछ महिलाओं को मिचली और चक्कर आने जैसी समस्या भी उत्पन्न होने लगती है।
  • मासिक धर्म अनियमित हो सकता है।
  • प्रोजेस्टोजन-ओनली पिल्स आपको यौन संचारित रोगों से नहीं बचाता है।
  • कुछ महिलाओं को अत्यधिक नींद आने की समस्या हो जाती है। [ये भी पढ़ें: जानें क्या है गर्भनिरोध के लिए लिया जाने वाले बर्थ कंट्रोल शॉट]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "