अपनी जांघों और कूल्हों को शेप में लाने के लिए करें ये योगासन

yoga poses to get your hips and thighs in shape

निष्क्रिय लाइफस्टाइल और एक्सरसाइज ना कर पाने की वजह से हमारी जांघों और और कूल्हों पर फैट जमा हो जाता है। जिसकी वजह से आपको बेडौल सा महसूस होता है। इस फैट को योग और डाइट की मदद से कम किया जा सकता है। कुछ योगासन हैं जिससे जांघों और कूल्हों का फैट कम करने में मदद मिलती है। आइए आपको इन योगासन के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: पैरों की मांसपेशियों के दर्द को दूर करने के लिए मददगार हैं ये योगासन]

1-उत्कटासन:

इस आसन को चेयर पोज भी कहते हैं। यह आसन पैरों की मांसपेशियों को उत्तेजित करता है खासकर जांघ और कूल्हे की। कुर्सी पर बैठना आसान होता है लेकिन जब आप काल्पनिक कुर्सी पर बैठते हैं तो आपके शरीर का पूरा भार आपकी जांघों और कूल्हे पर आ जाता है। यह आपके जांघ और कूल्हे को ना केवल सही शेप में लाने में मदद करता है बल्कि पैरों की मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करता है।

2-नटराजासन:

इस मुद्रा से कूल्हे को उत्तेजित करके सही शेप में लाया जा सकता है। इससे जांघ की अंदरुनी और बाहरी दोनों मांसपेशियां काम करती है। इस आसन को करने से आपके एक पैर पर शरीर का संतुलन रखने के लिए मजबूती मिलती है। पेल्विस से लेकर तलवे तक पैर की हर मांसपेशियों को स्ट्रैच और टोन करता है। इस आसन को करने से आपके पैरों में रक्त का परिसंचरण बढ़ जाता है। जिससे ऑक्सीजन का फ्लो बढ़ जाता है। [ये भी पढ़ें: कितने प्रकार से किया जा सकता है प्राणायाम]

3-उष्ट्रासन:

यह आसन आपके कूल्हे की मांसपेशियों को लचीला करता है। इसके साथ ही यह आपकी जांघ को टोन करने में मदद करता है। यह आसन आपके शरीर के आगे के भाग पर काम करता है। ताकि आपके जांघ की आगे का भाग उत्तेजित और टोन हो सके।

4-जानुशीर्षासन:

यह आसन जांघ और कूल्हे की मांसपेशियों को लचीला बनाने में मदद करता हैं। मांसपेशियों के स्ट्रैच होने से रक्त का परिसंचरण बढ़ जाता है। यह मांसपेशियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। साथ ही पैरों को मजबूत करता है।

5-बद्धकोणासन:

यह आसन कूल्हे को शेप में लाने में मदद करता है। साथ ही कूल्हे के मोशन को बढ़ाने में मदद करता है। इसे करने से आपके अंदरुनी मांसपेशियां स्ट्रैच और टोन होती है। यह आसन खासकर कूल्हे को शेप में लाने में मदद करता है। [ये भी पढ़ें:कमर के निचले हिस्से में होने वाले दर्द से राहत दिलाएंगे ये योगासन]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "