कमर के निचले हिस्से में होने वाले दर्द से राहत दिलाएंगे ये योगासन

कमर के निचले हिस्से में होने वाला दर्द कई कारणों से हो सकता है जैसे मांसपेशियों में खिंचाव, अधिक व्यायाम करने, अधिक वजन उठाने या फिर नर्व पर दबाव पड़ने से। योग उन संरचनात्मक और मांसपेशियों के असंतुलन को दूर करने में मददगार होता है जिनके कारण आपको पीठ दर्द की शिकायत हो सकती है। योग छोटी और टाइट मांसपेशियों को स्ट्रेच करने और पेल्विस व स्पाइन को मजबूत बनाने के लिए भी कारगर है। आप जितनी अच्छी तरह से योग का अभ्यास करते हैं आपको उतना ही अधिक फायदा होगा। लेकिन इस बात का भी ध्यान रखें कि हर किसी इंसान के लिए सभी प्रकार के योगासन पीठ दर्द को कम नहीं कर सकते हैं। अगर आपको कमर के निचले हिस्से में दर्द हो रहा है तो विशेष तौर पर कुछ योगासन कर सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में। [ये भी पढ़ें: इन योग आसनों की मदद से घटायें बेली फैट]

साइड बेंडिन्ग माउन्टेन पोज (ताड़ासन): 
yoga poses to ease lower back painइस आसन को करने के लिए दोनों पैरों को एक साथ मिलाकर खड़े हो जाएं। अपने दोनों हाथों की अंगुलियों को आपस में जोड़ते हुए अपनी हथेलियों को सामने की तरफ रखें। अब अपने हाथों को सिर के ऊपर उठाएं और हथेलियों को छत की ओर रखें। अब धीरे से शरीर के ऊपरी हिस्से को सीधे हाथ की तरफ झुकाएं। अपने उल्टे पैर पर शरीर का भार रखें। इस पोज में 6-8 सांस लेने तक रहें और फिर साइड बदल लें यानि उल्टे हाथ की तरफ ये आसन करें। यह आसन आपके स्पाइन की मसल्स को स्ट्रेच करने में मदद करता है।

कोबरा पोज (भुजंगासन): 
yoga-pose-to-ease-lower-back-painअपने पेट के बल लेट जाएं और हाथों को कमर के बराबर में रखें। अब सांस लेते हुए अपनी हथेलियों को कंधे के सीध में लाएं। अब अपनी हथेलियों पर शरीर के ऊपरी हिस्से का भार रखकर अपने सिर को ऊपर और छाती को सामने की तरफ उठाएं। ध्यान रखें कि इस दौरान आपकी नाभि जमीन से मिली होनी चाहिए और शॉल्डर ब्लेड्स आपकी पीठ पर एक-दूसरे की ओर होने चाहिए। इस पोज में 30 सेकेंड के लिए रहें और इसे फिर से दोहराएं। इस आसन से आपके कमर के निचले हिस्से की मसल्स मजबूत होती है। [ये भी पढ़ें: इन योग की मदद से बनाएं अपने पाचन तंत्र को बेहतर]

चाइल्ड्स पोज (बालासन): 
yoga poses to ease lower back painइस आसन को करने के लिए अपने घुटनों पर बैठ जाएं। अब अपने हाथों को ऊपर की ओर उठाएं और इसके बाद अपने घुटनों के बीच जगह बनाएं। अब आगे की ओर झुकते हुए अपने दोनों हाथों की हथेलियों और सिर को जमाीन से मिलाएं। हथेलियों को सिर के सामने रखें। इस दौरान अपने पैरों को आपस में मिलाकर रखें और अपने कूल्हों को बाहर की ओर रखें। यह आसन आपकी कमर को स्ट्रेच करता है और आपके स्पाइन में ट्रेक्शन (कोमल कर्षण) पैदा करता है।

बर्ड-डोग पोज:
yoga poses to ease lower back painइस आसन को करने के लिए अपने घुटनों और हथेलियों के बल पर लेट जाएं। इसके बाद अपने सीधे हाथ को आगे की तरफ बढ़ाएं और अपने उल्टे पैर को पीछे की ओर सीधा करें। इस दौरान अपनी बेली को स्पाइन की ओर दबाएं। याद रखें की आपको अपना सारा संतुलन उल्टे हाथ और सीधे पैर पर रखना है। गहरी सांस लेते हुए इस पोज में थोड़ी देर रहें और फिर पॉजिशन बदल लें। इस आसन को करने से आपकी स्पाइन में स्थिरता बनती है और यह स्पाइनल मसल्स की अंदरुनी परत को मजबूत करता है। [ये भी पढ़ें: योगासन जिनको करने से आप पाएंगे सुकून भरी नींद]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "