Benefits of Boat-Pose: नौकासन योग करने की विधि और फायदे

Benefits of Naukasana

Boat-Pose Benefits: नौकासन करने से स्पाइनल मसल्स को मजबूती मिलती है।

Benefits of Boat-Pose: आजकल हम अपने काम और जिंदगी की भागदौड़ में इतना व्यस्त हैं कि हम अपने स्वास्थ्य पर ध्यान ही नहीं दे पाते हैं। दिनभर की चिंता और तनाव हमें इतना थका देती हैं कि हम कुछ भी एक्स्ट्रा करने के लिए तैयार ही नहीं होते। हालांकि दिन की शुरुआत में योग का अभ्यास करने से आपको भरपूर उर्जा मिलती है साथ ही आपका स्वास्थ्य भी बेहतर रहता है। अगर आप दिनभर में अपने लिए 15–20 मिनट निकाल सकते हैं तो यह आपको काफी फायदे पहुंचा सकता है। योग का अभ्यास आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं। इसलिए हम बात कर रहे हैं नौकासन के फायदे और इसे करने की विधि के बारे में। आइए जानते हैं नौकासन योग करने की विधि और फायदे। [ये भी पढ़ें: विपरीत करनी योगासन करने की विधि और इसके लाभ]

Benefits of Boat-Pose: नौकासन कैसे करें और इससे क्या लाभ मिलते हैं

  • नौकासन करने की विधि
  • नौकासन के लाभ

नौकासन करने की विधि

  • जमीन पर चटाई बिछा कर बैठ जाएं और अपने पैरों को सामने की तरफ फैला लें।
  • गहरी सांस लें और अपने शरीर को रिलैक्स करने की कोशिश करें। इस स्थिति में थोड़ी देर बैठें।
  • अब धीरे-धीरे सांस लेते हुए अपनी टांगों को ऊपर की ओर उठाएं और सीधा रखें।
  • पैरों या घुटनों को मोड़े नहीं।
  • अब पैरों की दिशा में अपने दोनों हाथों को बढ़ाएं और सीधा रखें। दोनों हाथ खुले हों और अंगुलियां सीधी रखें।
  • इस स्थिति में 45 डिग्री पर अपने शरीर को रखें।
  • सांस लें और 10-15 सेकेंड के लिए इस स्थिति में रहें। अब धीरे धीरे सांस छोड़ें।
  • सामान्य स्थिति में आ जाएं। इस आसन को 3-4 बार दोहराएं।

नौकासन के लाभ

  • यह योगासन आपकी कोर एब्डोमिनल मसल्स को मजबूत करता है।
  • नौकासन करने से स्पाइनल मसल्स को मजबूती मिलती है।
  • यह योगासन आपके शरीर में प्राण के प्रवाह को बढ़ाता है।
  • पाचन तंत्र को दुरुस्त करता है।
  • डायबिटीज से ग्रस्त लोगों को इसका अभ्यास करना चाहिए क्योंकि यह शरीर में शुगर के स्तर को नियंत्रित करता है।
  • शरीर में रक्त के संचार के बेहतर करता है।
  • जांघ, कूल्हों, गर्दन, करम और कंधों की मांसपेशियों को मजबूत करता है और इनके कार्य में सुधार करता है।
  • जो लोग सिक्स पैक एब्स बनाना चाहते हैं, उनके लिए यह योगासन लाभकारी है।
  • तनाव को कम करने में मदद करता है।
  • यह शारीरिक संतुलन और आत्म-नियंत्रण को बढ़ाने में मदद करता है।
  • एब्डोमेन में मौजूद अंगों जैसे लिवर, किडनी और पैनक्रियाज के स्वास्थ्य में सुधार करता है।

[जरुर पढ़ें: कौन सा योग शानदार एब्स पाने में मदद करता है]

इस तरीके से आप नौकासन का अभ्यास करके ऊपर बताए गए लाभ पा सकते हैं। नियमित रुप से इस योगासन का अभ्यास जरुरी है। आप इस आर्टिकल को इंग्लिश में भी पढ़ सकते हैं।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "