जलंधरा बांध आसन करने की विधि और इससे होने वाले फायदे

how to do Jalandhara Bandha Yoga and its benefits

अगर अाप नियमित रूप से योग करते हैं तो आपको जलंधरा बांध योग जरूर करना चाहिए। यह योगासन आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है। इस आसन की सबसे बड़ी अच्छी बात इसे करने के लिए आपको बहुत मशक्कत नहीं करनी पड़ती, आप इसे आसानी से कर सकते हैं। आइए जानते हैं जलंधरा बंध आसन करने से होने वाले फायदों और इसको करने की सही विधि के बारे में।  [ये भी पढ़ें: बद्धकोणासन करने की विधि और इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभ]

क्या है जलंधरा बंध आसन:
जलंधरा बांध आसन अष्टांग योग का एक आसन है जिसके नाम के पीछे सही जानकारी उपलब्ध नहीं है हालांकि ये माना जाता है की ये तीन संस्कृत शब्द जाल और धारा और बंधन से बना है। इस आसन को अंग्रेजी में चिन लॉक के नाम से भी जाना जाता है।

जलंधरा बंध योग करने का तरीका:

सबसे पहले इस योग आसन को करनें के लिए पालथी मारकर बैठ जाएं। अपने हाथों की दोनों हथेलियां अपने घुटनों पर रखें, अब धीरे-धीरे सांस छोड़ें। अब गहरी सांस लें और अपनी छाती चौड़ी कर लें। ध्यान रहे की आप कम से कम 10 सेकेंड तक सांसें थामें रखें। अपने ठुड्डी(चिन) को ऊपर उठायें ध्यान रहें की सिर दायीं या बायीं ओर न मुड़ें। अब आगे झुकें और अपने सिर और गर्दन को अपनी छाती की तरफ झुकाएं। अब अपनी ठुड्डी को नीचे करें और अपने कॉलर बोन के पास टिकाएं। अब अपने गर्दन को सिकोड़ें तथा और अपनी पीठ सीधी रखें। अपनी नाक की नोक पर ध्यान केन्द्रित करें और इस अवस्था में थोड़ी देर रहें। अब अपनी ठुड्डी और पहले की अवस्था में आ जाएं। इस प्रक्रिया को दोहराये। [ये भी पढ़ें: वज्रासन करने की विधि और इसे स्वास्थ्य लाभ]

जलंधरा बंध योग के फायदे:

1. इस योगासन से स्पाइनल कॉर्ड(रीढ़ की हड्डी) सुचारू रूप से काम करता है।

2. यह योगासन गर्दन के नीचे मौजूद रक्त शिराओं पर प्रभाव डालता है तथा दिमाग में खून के संचार को कम कर देता है ऐसा होने से शरीर की क्रियाएं धीमी हो जाती है और शरीर को शांति की अनुभूति होती है।

3. इस योगासन से थायरॉइड फंक्शन भी बेहतर होता है।

4. जलंधरा बंध आसन आपकी एकाग्रता को बढ़ाने का काम करता है।

5. इस योगासन से कंधो से तनाव खत्म होता है तथा कंधे रिलैक्स्ड रहते हैं।

6. इस योगासन को नियमित रूप से करने से डबल चीन भी कम होता है जिससे चेहरे का सौन्दर्य बढ़ता है।

जलंधरा बांध योग करते समय ध्यान रखें ये बातें:
1. अगर आपको किसी भी तरह की सांस की समस्या हो तो ये आसन न करें।
2. अगर आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या है तो ये योगासन न करें। [ये भी पढ़ें: जानिए ताड़ासन करने की विधि और इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभ]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "