योगासन जो आपकी खूबसूरती को बरकरार रखते हैं

Read in English
amazing yoga poses with great beauty benefits

योग आपकी मानसिक शांति और शारीरिक सेहत के लिए एक बेहतरीन व्यायाम है। इसके नियमित अभ्यास से आप खुद को सेहतमंद रख सकते हैं। इतना ही नहीं, यह आपको खूबसूरत और जवां बनाएं रखने के लिए भी लाभकारी है। आपकी खूबसूरती केवल बाहरी रुप से ही नहीं निखरती है इसके लिए आपको अपने शरीर को आंतरकि रुप से खूबसूरत बनाने की जरुरत होती है। कुछ योगासन आपके शरीर को अंदर से स्वस्थ बनाता है और शरीर से हानिकारक टॉक्सिन्स को बाहर निकालता है जिससे आपकी त्वचा अंदर से निखरी बनती है और शरीर में रक्त संचार बढ़ने से आपकी त्वचा को सही पोषण मिलता है जिससे त्वचा स्वस्थ रहती है। आइए जानते हैं कौन से योगासन जो आपकी खूबसूरती को बरकरार रखते हैं। [ये भी पढ़ें: अपने दैनिक दिनचर्या में योगा को कैसे शामिल करें]

सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार में 12 अलग-अलग आसनों शामिल होते हैं। यह सबसे फायदेमंद आसनों में से एक है। इसके अभ्यास से आपको कई फायदे मिलते हैं। सूर्य नमस्कार आपके शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करता है साथ ही यह त्वचा को निखरी और बेदाग बनाता है।

प्राणायाम
अपनी त्वचा के निखार के बनाएं रखने के लिए सही तरीके सांस लेना जरुरी है और प्राणायाम आपको इसमें मदद करते हैं। हर रोज 15 दिन के लिए कपालभाती प्राणायाम करने से आपकी त्वचा खिली और जवां रहती हैं साथ ही झुर्रियों से बचती है। अन्य प्राणायाम की विधि जानने के लिए क्लिक करें। [ये भी पढ़ें: कौन सा योगा गर्मी से लड़ने में मदद करता है]

शोल्डर स्टैंड पोज़ या शीर्षासन

जब अपने पैरों के बल खड़े होते हैं तो अधिकतर रक्त आपके पैरों क ओर प्रवाह करता है लेकिन शीर्षासन करते वक्त आप अपने पैरो को ऊपर की ओर उठाते हैं जिससे सिर नीचे की ओर रहता है। ऐसे में रक्त का प्रवाह सिर और बालों की ओर बढ़ता है जिससे बालों की ग्रोथ बढ़ती है।

उत्तानासन
उत्तानासन या फॉरवर्ड बेंडिंग पोज़ करने से आपकी त्वता में रक्त का संचार तेज होता है जिससे त्वचा को ऑक्सीजन और अन्य पोषक तत्व रक्त के जरिए आसानी से मिल जाते हैं। इसलिए आपकी त्वचा फ्री रेडिकल्स के प्रभाव से बच जाती है। साथ ही यह त्वचा की नई कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है। विधि के लिए क्लिक करें।

हलासन

हलासन करने से आपके चेहरे की ओर रक्त का संचार बढ़ता है जिससे आपकी त्वचा में ग्लो बना रहता है। साथ ही यह योगासन आपको तनाव से दूर रखने में मदद करता है जिससे आपकी खूबसरती बनी रहती है। [ये भी पढ़ें: भुजपीड़ासन करने की सही विधि और इससे होने वाले लाभ]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "