फैट बर्न करते हैं तो शरीर का फैट कहां जाता है

Read in English
Where does fat go after losing it

फैट बर्न होने के बाद कहां जाता है।

शरीर का वजन और फैट बढ़ जाने की वजह से हर कोई परेशान रहता है क्योंकि वजन बढ़ने से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो जाते हैं। कई कारणों की वजह से वजन और फैट दोनों ही बढ़ता है जैसे- जंक फूड्स का सेवन, दैनिक दिनचर्या का खराब होना, हॉर्मोनल बदलवा, तनाव या फिर शारीरिक गतिविधि नहीं होने के कारण। वजन कम करने के लिए और फैट बर्न करने के लिए लोग कई तकनीक अपनाते हैं जैसे- एक्सरसाइज, फैट बर्निंग फूड्स का सेवन, डाइटिंग या फिर योगा। वजन कम करने के दौरान आपको पोषक तत्वों का सेवन करना चाहिए क्योंकि इन पोषक तत्वों को शरीर अवशोषित करता है और आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। लेकिन क्या आपने कभी इस बात पर गौर किया है कि आपके शरीर का फैट बर्न होने के बाद जाता है। कुछ गुड फैट होते हैं जो आपके शरीर के लिए लाभकारी होते हैं और आपको ऊर्जाशक्ति प्रदान करते हैं। [ये भी पढ़ें: गन्ने का जूस कैसे वजन कम करने में मदद करता है]

इस आलेख में शामिल हैं:

  • फैट सेल्स क्या होते हैं?
  • फैट बर्न करने के बाद शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है?
  • फैट कहां जाता है?

फैट सेल्स क्या होता है?

Where does fat go after losing it
फैट सेल्स कनेक्टिव टिशू सेल होता है जो कि विशेष रुप से फैट का निर्माण करता है।

मानव शरीर में दो प्रकार का फैट होता है, ब्राउन फैट सेल्स और व्हाइट फैट सेल्स। फैट सेल्स में फैट होता है जिसे एडिपोसाइट के नाम से भी जाना जाता है। फैट सेल्स कनेक्टिव टिशू सेल होता है जो कि विशेष रुप से फैट के संश्लेषण(निर्माण) और स्टोरेज में जरुरी होता है। फैट सेल्स शरीर के लिए आवश्यक होता है क्योंकि यह आपको ऊर्जा प्रदान करता है और कैलोरी को लिपिड के रूप में स्टोर करता है। फैट सेल्स शरीर के विभिन्न हिस्सों में पाया जाता है, लेकिन विशेष रूप से त्वचा के अंदर होता है। जब आप अधिक मात्रा में कैलोरी का सेवन करते हैं तो फैट सेल्स बढ़ता है। तो अगर कैलोरी बर्न करना चाहते हैं तो एक्सरसाइज आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। मखाना वजन कम करने में कैसे मदद करता है, जानने के लिए क्लिक करें।

फैट बर्न करने के बाद शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है?
तो आपके दिमाग में यह सवाल होगा कि एक्सरसाइज या डाइटिंग करने के बाद आपका बॉडी फैट कहां चला जाता है। बहुत से लोगों का मानना है कि हमारा शरीर फैट को उर्जा के रुप में इस्तेमाल कर लेता है जिससे शरीर में स्टोर फैट कम हो जाता है। हालांकि ऐसा नहीं है। हमारा शरीर सीधे से सारे फैट को उर्जा या मसल्स में नहीं बदलता है। आपके शरीर का फैट तुरंत गायब नहीं हो जाता है। शरीर का फैट एडिपोज सेल्स में स्टोर होता है ट्राइग्लिसेराइड के रुप में आपके शरीर में वापस जाता है। इसके बाद यह कई केमिकल रिएक्शन से गुजरता है और उर्जा में बदल जाता है। हालांकि यह प्रक्रिया 100 प्रतिशत प्रभावी नहीं है। इसके बाद भी फैट के बच जाने की संभावनाएं हो सकती हैं।

फैट कहां जाता है?
शरीर में उत्पादित पानी की कुछ मात्रा आपके पेशाब और पसीने के माध्यम से सामान्य तरीके से फैट को बर्न करता है। फैट का बायोप्रोडक्ट्स(कार्बन डाइऑक्साइड समेत) श्वसन प्रणाली के माध्यम से शरीर को छोड़ देता है। आप कापी सारे फैट्स को सांस के जरिए बाहर निकाल देते हैं, उस प्रक्रिया से सीओ2 आपके फेफड़ों द्वारा उत्पादित सीओ 2 के साथ मिलकर होता है क्योंकि वे ऑक्सीजन को संसाधित करते हैं। [ये भी पढ़ें: वजन कम करते समय वजन को सही तरीके से कैसे मापें]

फैट बर्न करने के लिए लोग एक्सरसाइज और डाइटिंग की मदद लेते हैं। लेकिन साथ ही उन्हें यह बात भी परेशान करती है कि फैट बर्न होने के बाद जाता कहां हैं।

 

 

 

 

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "