वजन कम करने के लिए स्वैट बैंड का इस्तेमाल करना हो सकता है हानिकारक

side-effects-of-stomach-sweat-bands

वजन घटाने के पीछे लोगों का मुख्य कारण अक्सर पेट की चर्बी कम करना होता है। पेट की चर्बी कम करने के लिए लोग अलग-अलग तरह के वर्कआउट और डाइट प्लान को अपनाते हैं। इसी के साथ ही लोग स्वैट बैंड का इस्तेमाल भी बैली फैट को कम करने के लिए करते हैं। इसे पेट की चर्बी को कम करने का सबसे आसान उपाय माना जाता है जिसमें कम मेहनत लगती है और बैठे -बैठे आपके पेट से भरपूर पसीना निकलता है। लेकिन क्या ये बेल्ट वाकई पेट की चर्बी को कम करने के लिए उपयोगी होते हैं? भले ही इनका इस्तेमाल करने से पेट से भरपूर पसीना निकलता है लेकिन जिद्दी बैली फैट को कम करने के लिए ये स्वैट बैंड अधिक उपयोगी नहीं होते हैं। आइए जानते हैं क्या है इसके पीछे का मुख्य कारण कि क्यों ये बैंड पेट की चर्बी कम करने के लिए उपयोगी नहीं होते हैं। [ये भी पढ़ें: रोजाना की आदतें जो आपके इम्यून सिस्टम को नुकसान पहुंचाती हैं]

1. यह सिर्फ वाटर वेट को कम करता है: स्वैट बैंड को जब आप पेट पर पहनते हैं तो आपको पसीना अधिक आता है लेकिन इस पसीने के कारण जो वजन कम होता है वह पानी का वजन होता है ना कि आपका बैली फैट होता है। जब आप पानी पीते हैं तो आप फिर से हाइड्रेट हो जाते हैं और जो वजन आपका कम हुआ है वह वापस बढ़ जाता है।

2.हीट स्वैट बैंड से जल सकती है त्वचा: स्वैट बैंड कई तरह के होते हैं। कुछ स्वैट बैंड हीट स्वैट बैंड होते हैं जो कि ज्यादा पसीना निकालते हैं लेकिन इन स्वैट बैंड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसे स्वैट बैंड का इस्तेमाल करने पर आपको छाले पड़ सकते हैं। यहां तक कि आपकी त्वचा जल भी सकती है। ज्यादा पसीना आने का मतलब यह नहीं है कि आपका वजन ज्यादा कम हो रहा है इससे सिर्फ आपके शरीर का तरल कम होता है। [ये भी पढ़ें: धूम्रपान छोड़ने पर आपके शरीर पर क्या प्रभाव पड़ते हैं]

3.फैट बढ़ाने वाली कोशिकाओं को कम नहीं करता है: पेट की मसल्स के लिए भी वजन कम करने को ये बैंड एक मुश्किल काम बना देते हैं जिस कारण आप एक सीमा से ज्यादा कैलोरी बर्न नहीं कर पाते हैं। साथ ही जब आप जरुरत से ज्यादा गर्म महसूस करते हैं तो आप एक्सरसाइज करना बंद कर देते हैं जिससे आप केवल कुछ ही कैलोरी बर्न कर पाते हैं। ऐसे में आप यह भी पता नहीं लगा पाते की आपन कितना फैट बर्न किया है।

4. स्वैट बैंड के हो सकते हैं और भी खतरे: हालांकि स्वैट बैंड शरीर से पसीना निकालता है लेकिन यह पसीने को वाष्प बनने या सूखने नहीं देता है। इस कारण त्वचा की गर्मी कम नहीं हो पाती है और खतरनाक रुप से शरीर का तापमान बढ़ जाता है। इससे कमजोरी, चक्कर आने, या असमंजस की स्थिति पैदा हो सकती है। कसकर बांधने के कारण यह आंतों और किडनी के रक्त प्रवाह को सीमित कर देता है जिससे कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो सकती हैं। [ये भी पढ़ें: नल के पानी से खाना बनाना सुरक्षित है कि नहीं]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "