फैट घटाने के नियम जिनका पालन करना जरुरी है

important rules to follow while you are losing fat

शरीर पर अतिरिक्त फैट जमा होने से आपकी फिटनेस कम हो जाती है और मोटापा, उच्च रक्तचाप या शुगर जैसी बीमारियों की संभावनाएं भी बढ़ जाती हैं। इसलिए फैट घटाकर फिट रहना एक जरुरत बन जाती है, लेकिन फैट घटाते हुए आपको कुछ नियमों का पालन करना चाहिए। जिनकी मदद से आप प्रभावी तरीके से वजन घटा पाते हैं और कमजोरी या थकान जैसी समस्याओं से भी दूर रहते हैं। आइये जानते हैं कि वजन घटाते हुए किन नियमों का पालन करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: वजन कम करने के लिए कौन से अनाज हैं फायदेमंद]

1.डाइटिंग प्लान: वजन घटाते हुए आपके पास एक संतुलित डाइट प्लान होना जरुरी है, क्योंकि आपके शरीर की बनावट आपके खान-पान पर निर्भर करती है। वजन घटाते हुए आपको ध्यान रखना चाहिए कि आपकी डाइट में फैट युक्त आहार शामिल नहीं हो और शरीर को पोषण और ऊर्जा देने वाले ज्यादा खाद्य पदार्थ होने चाहिए।

2.प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट और फैट की मात्रा का निर्धारण:
फैट घटाने और मसल्स बनाने के दौरान प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट और फैट की मात्रा का सेवन निर्धारित करना जरुरी होता है क्योंकि इन चीजों का आपके वजन और मसल्स के साथ गहरा रिश्ता होता है। आपको दिनभर में अपने प्रति किलोग्राम वजन पर 2-3 ग्राम प्रोटीन लेने की जरुरत होती है। इसके साथ ही आप कम कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें और फैट से दूर ही रहें। [ये भी पढ़ें: वजन कम करने के लिए चिया सीड्स का करें सेवन]

3.नियमतता: शारीरिक वजन को संतुलित रखने के लिए आपको अपनी डाइट और वर्कआउट को नियमित करना पड़ेगा। क्योंकि वजन कम होने के बाद अगर आप अपनी डाइट और वर्कआउट को छोड़ देते हैं, तो आपका वजन फिर से बढ़ने लगता है और आपके द्वारा की गई सारी मेहनत बेकार चली जाती है। वजन कम करने के लिए आपको ज्यादा कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों से भी हमेशा के लिए दूरी बनानी पड़ती है।

4.कार्डियो: पोषक आहार के साथ कार्डियो करने से आप जल्दी फैट घटा सकते हैं। लेकिन इसके लिए भी आपको कार्डियो रूटीन का नियमित अभ्यास करने की जरुरत है। आपको रोजाना 30 मिनट तक कार्डियो एक्सरसाइज करनी चाहिए क्योंकि इससे ज्यादा समय तक कार्डियो करने से फैट की जगह मसल्स घटने की आशंका होती है।

5.वेट ट्रेनिंग: फैट घटाने के लिए वेट ट्रेनिंग जरुर करनी चाहिए क्योंकि वेट ट्रेनिंग का अभ्यास करने से कैलोरी बर्न होती है और मेटाबॉलिक रेट बढ़ता है। जिससे शरीर पर अतिरिक्त फैट नहीं जम पाता है और शरीर मस्कुलर भी बनता है।

6.बॉडी फैट और वजन का ज्ञान: फैट घटाते हुए आपको अपने बॉडी फैट का ज्ञान होना जरुरी होता है, इससे आपको तथ्यात्मक आंकड़ें मिल पाएंगे और आप उसी के अनुसार अपनी डाइट और वर्कआउट रूटीन का निर्धारण कर सकते हैं। जिससे बेहतर परिणाम मिलते हैं। बॉडी फैट जानने के लिए आप किसी डॉक्टर की सहायता ले सकते हैं और रोजाना सुबह खाली पेट अपना वजन भी माप लें। [ये भी पढ़ें: फोम रोलर की मदद से आसान एक्सरसाइज करके घटाएं फैट और बने फिट]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "