Weight loss: वजन बढ़ाने वाले हार्मोन को कैसे नियंत्रित करें

Read in English
Steps to Turning Off Your Weight Gain Hormones

Weight loss: वजन कम करने के लिए हार्मोन को नियंत्रित करें

Weight loss: कोई भी शरीर पर अतिरिक्त वजन नहीं चाहता क्योंकि यह कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का कारण बनता है। अतिरिक्त वजन के कारण मोटापा और कार्डियोवस्कुलर डीजिज जैसी समस्याएं हो जाती हैं। वजन बढ़ने के कई कारण होते हैं जैसे- अस्वस्थ खाद्य पदार्थो का सेवन, शारीरिक गतिविधि की कमी या फिर अधिक फैट और कैलोरी वाले खाद्य पदार्थो का सेवन करना। शरीर से अतिरिक्त पाउंड कम करने के लिए लोग विभिन्न तकनीकों और तरीकों को अपनाते हैं। वे वर्कआउट, कार्डियो और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग का अभ्यास करते हैं और आहार योजना का पालन भी करते हैं। इन सभी का पालन करने के बावजूद, कुछ लोग वजन कम करने में विफल हो जाते हैं। इसका एक और मुख्य कारण हार्मोन का असंतुलन भी हो सकता है। शरीर में कुछ हार्मोन वजन बढ़ाने की गति को बढ़ाते हैं। इसके लिए, आपको इन हार्मोन्स को नियंत्रित करना होगा। [ये भी पढ़ें: Hormone imbalance: हार्मोन असंतुलन के संकेत]

Weight loss: टिप्स जिनकी मदद से हार्मोन्स को नियंत्रित कर सकते हैं:

  • कॉर्टिसोल कम करें
  • प्रोटीन का सेवन बढ़ाएं
  • लेप्टिन कम करें
  • अनाज के सेवन को कम करें
  • एस्ट्रोजेन को रेगुलेट करें

कॉर्टिसोल कम करें:
कॉर्टिसोल हार्मोन को नियंत्रित करना महत्वपूर्ण होता है। जब कॉर्टिसोल हार्मोन उच्च हो जाता है, तो शरीर रक्त शर्करा को वसा में परिवर्तित करता है और लंबे समय तक शरीर में संग्रहीत करते हैं। कॉर्टिसोल के स्तर को कम करने से फैट को कम करने में मदद मिलती है।

प्रोटीन का सेवन बढ़ाएं:

Hormones That Lead to Weight Gain
Weight loss: प्रोटीन का सेवन करें

घ्रेलिन एक और हार्मोन है, जो वजन बढ़ाने का भी कारण बनता है। यह हार्मोन भूख से जुड़ा हुआ होता है। घ्रेलिन को रोकने का सबसे अच्छा तरीका प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा का उपभोग करना होता है। प्रोटीन भूख हार्मोन को नियंत्रित करने में मदद करता है। [ये भी पढ़ें: Protein Intake: प्रोटीन का सेवन करते वक्त आप क्या गलतियां करते हैं]

लेप्टिन कम करें:
असल में, लेप्टिन उपयोगी हार्मोन होता है जो ओवरइटिंग को रोकता है। यह हार्मोन वसा कोशिका द्वारा जारी किया जाता है, जो मस्तिष्क को संकेत देता है कि आप पूर्ण हैं। दुर्भाग्य से, जब आप उच्च मात्रा में फ्रुक्टोज का उपभोग करते हैं तो लेप्टिन का उत्पादन बढ़ जाता है। इस स्थिति में, हार्मोन मस्तिष्क को सटीक संकेत नहीं भेजता है।

अनाज के सेवन को कम करें:
बीज और अनाज ग्लूटेन के अच्छे स्रोत हैं। ग्लूटेन हर किसी के लिए बुरा नहीं होता है लेकिन कुछ लोगों को इससे बचने की जरूरत है। उन लोगों को थायरॉइड हार्मोन से समस्याएं होती है, शरीर में वसा का मुख्य भंडारण के रूप में अनाज से बचने की जरूरत होती है। [ये भी पढ़ें: वजन कम करने के लिए कौन से अनाज हैं फायदेमंद]

एस्ट्रोजेन को रेगुलेट करें:
एस्ट्रोजेन महिला शरीर में मौजूद होता है और यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लेकिन अत्यधिक एस्ट्रोजेन हार्मोन वजन बढ़ाने का कारण बनता है। एस्ट्रोजन के स्तर को बनाए रखने का सबसे अच्छा तरीका एक स्वस्थ आहार का उपभोग करना होता है जिसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर, प्रोटीन, कार्ब्स और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं।

[जरूर पढ़ें: Losing Belly fats: कौन सी आदतों की वजह से आपका बेली फैट कम नहीं होता है]

हार्मोन का असंतुलन शरीर में वजन बढ़ा सकता है। उन्हें नियंत्रण में रखना महत्वपूर्ण होता है। वजन बढ़ाने वाले हार्मोन को नियंत्रित करने के लिए कुछ आसान युक्तियां हैं।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "