वजन कम करने में ग्रीन टी कैसे मदद करती है

Read in English
lose weight with green tea

ग्रीन टी(Green tea) का सेवन वजन कम(Weight loss) करने में मदद करती है।

ग्रीन टी में भरपूर पोषक तत्व होते हैं जो शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। ग्रीन टी कैमेलिया साइनेसिस नामक पौधे की पत्तियों से प्राप्त होती है। ग्रीन टी शरीर को स्वस्थ रखने के साथ वजन कम करने में भी मदद करती है। ग्रीन की फैट बर्निंग प्रोसेस को बढ़ा देता है जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है। ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है। जिससे शरीर इंफेक्शन से ग्रसित कम होता है। अगर आप वजन कम रने के सभी तरीके अपना चुके हैं तो ग्रीन टी का सेवन करना शुरु कर दें। इससे आसानी से वजन कम किया जा सकता है। तो आइए आपको बताते हैं कि ग्रीन टी वजन कम करने में कैसे मददगार है। [ये भी पढ़ें: दिन में कितने कप ग्रीन टी का सेवन होता है उचित]

ग्रीन टी(Green Tea)कैसे वजन कम(Weight loss)करती है

ग्रीन टी(Green Tea) में फैट कम करने वाले पोषक तत्व होते हैं
एक्सरसाइज के दौरान फैट बर्न(fat burn) करने में मददगार
बूस्ट मेटाबोलिक रेट(Metabolic rate)
वसा कोशिकाओं(Fat cells)से वसा मोबिलाइज करती है

ग्रीन टी(Green Tea) में फैट कम करने वाले पोषक तत्व होते हैं: ग्रीन टी में बायोएक्टिव होता है जो कैफीन और ईजीसीजी होता है। यह मेटाबॉल्जिम को बूस्ट करता है जिससे फैट बर्न करने की प्रक्रिया उत्तेजित होती है और वजन कम करने में मदद मिलती है। मेटाबॉल्जिम बूस्ट करने के लिए सुबह कौन सी आदतें अपना सकते हैं, जानने के लिए क्लिक करें।

एक्सरसाइज के दौरान फैट बर्न(fat burn)करने में मददगार:

green tea for weight loss
ग्रीन टी(Green tea) का सेवन करने से एक्सरसाइज के दौरान ज्यादा फैट बर्न(Fat Burn) होता है।

ग्रीन टी में बहुत से पोषक तत्व होते हैं जो फैट बर्न करने की प्रक्रिया को बढ़ाते हैं। यह प्रभाव तब और बढ़ जाता है जब आप एक्सरसाइज करने से पहले ग्रीन टी का सेवन करते हैं। ग्रीन टी एक्सट्रेक्ट एक्सरसाइज के दौरान फैट बर्न करने में मदद करते हैं।

बूस्ट मेटाबोलिक रेट(Metabolic rate): सोते और बैठे रहते समय भी हमारे शरीर की कोशिकाओं को कार्य करने के लिए ऊर्जा की जरुरत होती है। ग्रीन टी का सेवन करने से ज्यादा कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती है। ग्रीन टी का सेवन करने से मेटाबॉल्जिम बूस्ट होता है जिससे व्यक्ति 3-4% अधिक कैलोरी बर्न कर पाता है।

वसा कोशिकाओं(Fat cells)से वसा मोबिलाइज करती है: फैट बर्न करने के लिए सबसे पहले फैट सेल्स को तोड़ना होता है ताकि वह ब्लडस्ट्रीम में जा सके। ग्रीन टी में मौजूद सक्रिय यौगिक इस प्रक्रिया को बूस्ट करते हैं। ग्रीन टी में मौजूद यौगिक शरीर में उन हार्मोन्स का लेवल बढ़ा देता है जो फैट सेल्स को फैट में ब्रेक करने में मदद करते हैं। जिससे यह ब्लडस्ट्रीम में जाकर ऊर्जा की तरह मौजूद होता है। इससे वजन कम हो जाता है। [ये भी पढ़ें: बाल गिरने की समस्या को ग्रीन टी की मदद से कैसे कम करें]

ग्रीन टी में मौजूद यौगिक वजन कम करने में मददगार होते हैं। यह फैट बर्न करने की प्रक्रिया को बढ़ाकर वजन कम करने मे मदद करते हैं। इस आर्टिकल को इंग्लिश(English)में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "