मसल्स के विकास के लिए दिमाग को कैसे मजबूत बनाएं

Read in English
how to strengthen mind for muscles gain

मसल्स बढ़ाने(मसल्स का विकास) के लिए लोग जिम में कई-कई घंटे वर्कआउट करते हैं, लेकिन यह प्रक्रिया इतनी आसान नहीं होती है। मसल्स बिल्डिंग की पूरी प्रक्रिया के दौरान कई बार बॉडी बिल्डर की प्रेरणा और लगन खोने लगती है, जिससे उसके वर्कआउट पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। दरअसल मसल्स के विकास के लिए आपके दिमाग का भी मजबूत और प्रेरित रहना बहुत आवश्यक होता है। आइए जानते हैं कि मसल्स के विकास अपने दिमाग को मजबूत बनाने के लिए क्या करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: 1 महीने में वजन बढ़ाने के लिए टिप्स]

1.मानसिकता को बदलें: मसल्स बिल्डिंग के लिए आपको अपनी मानसिकता बदलने की जरुरत होती है। हमेशा सोचना चाहिए कि वर्कआउट करने के लिए कोई आप पर दबाव नहीं डाल रहा है, बल्कि यह आप खुद को स्वस्थ और मस्कुलर बनाने के लिए करते हैं। अगर आप वर्कआउट या एक्सरसाइज को दबाव समझकर करेंगे तो काफी संभावना है कि आपका दिमाग इससे दूर भागने लगे।

2.एक्सरसाइज के दौरान ध्यान बनाए रखना:
how to strengthen mind for muscles gainवर्कआउट से बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए आपको आरामदायक स्थिति से बाहर आकर अपनी क्षमता से थोड़ी सी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है लेकिन काफी लोग ऐसा करने में असफल हो जाते हैं। ऐसे समय में आपको धैर्य और ध्यान बनाए रखना चाहिए, जिससे आप एक्सरसाइज की मूवमेंट पर ज्यादा ध्यान दे पाएं और जल्दी नतीजे प्राप्त कर पाएं। [ये भी पढ़ें: सर्दियों में कैसे वजन को बढ़ने से रोकें]

3.दिमाग के साथ खेलें: कई बार एक्सरसाइज के सेट के आखिरी 1 या 2 रैप करने मुश्किल हो जाते हैं और शरीर की क्षमता भी खत्म हो जाती है। यही वह समय होता है जब आपकी मसल्स थोड़ी सी मेहनत के बाद विकसित हो सकती हैं। इसलिए जब आपका दिमाग और शरीर रैप्स करने से मना कर चुका हो, तो दिमाग को समझाएं कि अगर इन रैप्स को नहीं किया गया तो आपकी सारी मेहनत बेकार हो जाएगी। ऐसा करने से आपको काफी फायदा मिल सकता है।

4.दीर्घकालिक परिणामों के बारे में सोचें:
how to strengthen mind for muscles gainजब आप एक कठिन वर्कआउट से गुजर रहे हों, तो आपको इस वर्कआउट के दीर्घकालिक परिणामों के बारे में सोचना चाहिए। जैसे कि इस वर्कआउट का अभ्यास करने से आपका शरीर मस्कुलर बनेगा या आपकी पर्सनालिटी दमदार बनेगी। इन फायदों के बारे में सोचने से आपको प्रेरणा मिलेगी और आप वर्कआउट अभ्यास का आसानी से कर पाएंगे।

5.खुद से सकारात्मक बातें करें: दिमाग को मजबूत बनाने के लिए आपको वर्कआउट के समय खुद से सकारात्मक बातें करनी चाहिए, जैसे आप ये कर सकते हैं, यह इतना मुश्किल नहीं है आदि। ऐसा करने से आपका दिमाग मसल्स को संकेत भेजता है कि उसके लिए यह एक्सरसाइज करना ज्यादा मुश्किल नहीं है। [ये भी पढ़ें: भावनाएं कैसे आपका वजन बढ़ने का कारण बनती है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "