भावनाएं कैसे आपका वजन बढ़ने का कारण बनती है

Read in English
how emotions leads to weight gain

शरीर का अतिरिक्त फैट आपको अस्वस्थ बनाता है, जिसके साथ कई स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं आती हैं। शरीर का वजन बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे फास्ट फूड या अधिक कैलोरी फूड का सेवन या अस्वस्थ जीवनशैली व्यतीत करना। लेकिन इन सबके अलावा भावनाएं भी आपका वजन बढ़ने का कारण होती हैं। शायद इस बात से आप अनजान हो सकते हैं। दरअसल सभी भावनाएं आपके दिमाग को प्रभावित करती हैं, जिस वजह से शरीर में हॉर्मोन असंतुलित होने लगते हैं। आइये जानते हैं कि कौन-सी भावनाएं किस तरह आपका वजन बढ़ाती हैं। [ये भी पढ़ें: ब्रेकफास्ट से जुड़ी गलतियां जो आपका वजन बढ़ाती हैं]

1. अकेलापन: अकेलापन महसूस करना काफी खतरनाक भावना होती है, जिसमें हमारा दिमाग नकारात्मक रूप से प्रभावित होता है। अकेलापन आपके शरीर में घ्रेलिन हॉर्मोन का उत्पादन बढ़ाता है, जो कि आपकी भूख को बढ़ाता है। इस हॉर्मोन के बढ़ने से आपको जल्दी-जल्दी भूख लगने लगती है और आप ज्यादा खाने लगते हैं। इस समस्या से निकलने के लिए लोगों से मिलना-बातें करना और नियमित एक्सरसाइज करना शुरू करें।

2. कमी महसूस करना: हर कोई व्यक्ति अपनी जिंदगी में किसी चीज या इंसान की कमी महसूस करता है, जिसे वह पाना चाहता है। ऐसी स्थिति में इस समस्या के शिकार व्यक्ति को अधिक भूख लगनी शुरू हो जाती है और आपका दिमाग कुछ खाने के लिए आपको ललचाता है। इस अवस्था में अपनी भूख को संयमित करना काफी मुश्किल कार्य होता है। [ये भी पढ़ें: रात की आदतें जिनसे आपका वजन बढ़ता है]

3. चिंता होना: किसी चिंता में होने की वजह से आपके शरीर में हॉर्मोन असंतुलित होने लगते हैं और यह आपके जीवनशैली को भी प्रभावित करता है। जीवनशैली के बिगड़ जाने की वजह से आपका खाना खाने का समय अस्त-व्यस्त हो जाता है, जिससे पाचन क्रिया पर बुरा प्रभाव पड़ता है और वजन बढ़ने लगता है।

4.तनाव:
जब आप तनाव से ग्रस्त होते हैं, तो शरीर में एड्रेनालाईन हॉर्मोन का उत्पादन असंतुलित हो जाता है। इस हॉर्मोन के असंतुलित होने से शरीर में फैट बढ़ने लगता है। इसके साथ ही तनाव में होने से कोर्टिसोल की मात्रा बढ़ती है, जिससे रक्त से सभी फैटी एसिड पेट के आसपास जमा होने लगते है।

5. बोरियत: जब आप बोरियत महसूस करते हैं, तो आपकी निर्णय लेने की क्षमता कमजोर हो जाती है। जिस वजह से आप अपोषक और पोषक खाद्य पदार्थों में चुनाव नहीं कर पाते हैं और कुछ भी मिल जाने पर खा लेते हैं। जिस वजह से शरीर में कैलोरी और फैट की मात्रा बढ़ने लगती है और वजन भी बढ़ता है। [ये भी पढ़ें: जल्दी और प्राकृतिक तरीके से वजन बढ़ाने के लिए पुरुष क्या करें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "